17 MAYTUESDAY2022 3:31:46 AM
Nari

यहां दूल्हा मना हैं..! ना लड़का ना बाराती फिर भी यहां दुल्हनों की हो रही है शादी

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 12 May, 2022 01:05 PM
यहां दूल्हा मना हैं..! ना लड़का ना बाराती फिर भी यहां दुल्हनों की हो रही है शादी

शादी एक बहुत बड़ा फैसला है, जिसके बाद लड़का हो या लड़की उनकी जिंदगी पूरी तरह से बदल जाती है। जीवन में नए रिश्ते जोड़ना,  हर किसी का ध्यान रखना, जिम्मेदारियों का बोझ उठाना कोई आसान काम नहीं है। इस सब से बचने के लिए कुछ लड़कियां अनमैरिड रहने का मन बना रही हैं। भले ही उन्होंने शादी ना करने का मन बना लिया है लेकिन दुल्हन बनना तो हर किसी लड़की का सपना होता है। इसे सपने को पूरा करने के लिए  सोलो वेडिंग का Trend बढ़ गया है।

PunjabKesari

अब आप यह जानना चाहेंगे कि सोलो वेडिंग आखिर है क्या? तो बता दें कि यह ऐसी शादी है जहां सजी- धजी दुल्हन तो होगी लेकिन इसमें ना कोई दूल्हा होगा ना कोई बारात होगी। अगर दूल्हा दुल्हन एक साथ नहीं होंगे तो शादी की रस्में भी नहीं होगी, पर मेहमान जरूर होंगे। इस अजीबोगरीब शादी में दुल्हन, उसकी सहेलियां और परिवार के लोग शामिल होते हैं और नॉर्मल शादी की तरह की मस्ती मजाक करते हैं।

PunjabKesari

जापान की लड़कियां पिछले कई सालों से ‘सोलो मैरिज’ करती आ रही हैं। वह सोलो वेडिंग के लिए स्पेशल ड्रेस भी बनवाती हैं, रिंग डिजाइन करवाती हैं और खुद के साथ रहने का वादा भी करती हैं। जापान की राजधानी क्योटो में  सेरेका ट्रैवल नामक कंपनी की ओर से लड़कियों को इस वैंडिंग के लिए खास सुविधा दी जाती है। इस सोलो वेडिंग पैकेज में दो दिन के लिए दुल्हन होटल में रहती है। उनकी ड्रेस फिटिंग कराई जाती है, बैंकेट हॉल को डिजाइन किया जाता है।

PunjabKesari

दुल्हन का पूरा मेकअप किया जाता है। इतना ही नहीं पूरा फोटो शूट करवाकर शादी की एल्बम भी तैयार किया जाता है। दुल्हन की ड्रेस और पार्टी का आयोजन दुल्हन के इच्छा के अनुसार किया जाता है।  पूरी तरह से एक रीयल वेडिंग ही होती है बस इसमें दूल्हा नहीं होता है।  जापानी इवेंट कंपनी सेरेका ट्रैवल के मुताबिक सोलो वेडिंग के लिए वो लड़कियां आती है जो या तो तलाक ले चुकी होती है या किसी रिश्ते में धोखा खा चुकी होती हैं। जापान ही नही अब अमेरिका में भी बड़ी संख्या में सिंगल वुमन सोलो वेडिंग करना पसंद कर रही हैं।

PunjabKesari

सोलो मैरिज करने वाली लड़कियों में से किसी को बचपन से दुल्हन बनने का सपना पूरा करना जरूरी था, तो किसी के लिए वह खुद की ही फेवरेट थी। यानी उन्हें जीवन में किसी के भी साथ रहना पसंद नहीं है, इसलिए वह सोलो मैरिज का रास्ता अपना रही हैं। वह समाज के सामने खुलकर इस बात को स्वीकार करती हैं कि वह खुद के साथ जीवन भर रहने को तैयार हैं।

 

Related News