30 NOVMONDAY2020 2:13:03 AM
Nari

घर पर खुद बनाएं Detox Foot Pads, बीमारियां रहेंगी दूर और पैर भी होंगे एकदम साफ

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 23 Oct, 2020 11:42 AM
घर पर खुद बनाएं Detox Foot Pads, बीमारियां रहेंगी दूर और पैर भी होंगे एकदम साफ

जब शरीर में से विषैले टॉक्सिंस बाहर नहीं निकल पाते तो वह लिवर व आंत में इकट्ठे हो जाते हैं और बीमारियों का कारण बनते हैं। टॉक्सिन्स ना सिर्फ सेहत बिगाड़ते हैं बल्कि इसे खूबसूरती भी छिन जाती है। ऐसे में आजकल बॉडी डिटॉक्सिंग के लिए फुट पैड्स का काफी इस्तेमाल किया जा रहा है। डिटॉक्स फुट पैड्स बैक्टीरिया और टॉक्सिंस को बाहर निकालकर आपको स्वस्थ रखने में मदद करेंगे।

कैसे काम करता है डिटॉक्स फुट पैड्स?

फुट पैड्स एक स्ट्रिप्स होती हैं, जिन्हें पैरों के तलवे पर 8 से 12 घंटों के लिए लगाया जाता है। इससे सुबह उठने पर पैड के ऊपर पीला, ब्राउन या काले रंग का तत्व बाहर आता है, जो मेटल्स, विषैले टॉक्सिंस और बैक्टीरिया होते हैं।

PunjabKesari

घर पर ही बनाएं डिटॉक्स पैड

1. इसके लिए सबसे पहले प्याज और लहसुन को बारीक काटकर 10 मिनट तक पानी में उबालें। ध्यान रखें कि इसमें पानी उतना ही डालें कि पेस्ट तैयार हो जाएं।
2. अब पेस्ट को 20 मिनट तक ठंड़ा होने के लिए रखें और फिर इसे Gauze Pads में डालें।
3. इसके बाद पैड्स को पैर के तलवों के बीच में रखकर जुराबें पहन लें, ताकि यह खिसके नहीं।
4. पसीने के साथ पैरों के तलवे से टॉक्सिन्स बाहर निकल आएंगे और फिर सुबह पैड्स हटाकर पैर साफ कर लें।

PunjabKesari

चलिए अब आपको बताते हैं कि डिटॉक्स फुट पैड्स लगाने से आपको क्या-क्या फायदे होते हैं...

तनाव का दूर होना

डिटॉक्स फुट पैड्स लगाने से गंदे टॉक्सिंस बाहर निकल जाते हैं, जिससे आप अच्छा महसूस करते हैं। इससे तनाव दूर होता है और आप फ्रैश भी फील करते हैं।

बेहतर नींद

अगर आपको भी अनिद्रा की समस्या है तो फुट पैड्स जरूर लगाएं। इससे नींद ना आने की परेशानी भी दूर होती है।

बेहतर ब्लड सर्कुलेशन

क्योंकि इससे शरीर के विषैले टॉक्सिंस बाहर निकल जाते हैं इसलिए इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। साथ ही इससे खून के थक्के बनने की संभवना भी कम होती है।

दिल व दिमाग को रखे स्वस्थ

ब्लड सर्कुलेशन सही होने के कारण दिल व दिमाग को सही मात्रा में खून और ऑक्सीजन मिल पाती है, जिससे वो सही से काम करते हैं। इससे हार्ट अटैक का खतरा भी कम होता है।

पैरों के दर्द से राहत

इससे पैरों के नीचे मौजूद नर्व एंडिंग्स और स्वेट ग्लैंड्स को आराम मिलता है, जिससे उनकी सूजन, दर्द, डलनेस दूर रहती हैं। साथ ही इससे बॉडी पेन भी दूर होता है और बॉडी डिटॉक्स होती है।

त्वचा की खूबसूरती बढ़ाए

बॉडी के साथ यह त्वचा को भी डिटॉक्स करता है, जिससे स्किन ना सिर्फ ग्लो करती है बल्कि दाग-धब्बे, पिंपल्स, झुर्रियां जैसी समस्याएं भी नहीं होती। साथ ही इससे पैर भी सुंदर होते हैं।

PunjabKesari

Related News