08 AUGMONDAY2022 9:33:01 PM
Nari

डायबिटीज से जुड़ी इन झूठी बातों को आप भी तो नहीं मानते सच?

  • Edited By Harpreet,
  • Updated: 04 Jan, 2020 06:27 PM
डायबिटीज से जुड़ी इन झूठी बातों को आप भी तो नहीं मानते सच?

टाइप-2 डायबिटीज आज एक गंभीर रुप धारण करती जा रही है। जहां 40 के ऊपर व्यक्ति इसका शिकार हो रहे हैं, वहीं नौजवान भी बहुत तेजी से इसकी चपेट में आ रहे हैं। टाइप-2 डायबिटीज के मुख्य 4 से 5 कारण हैं। जैसे कि अधिक वजन, उम्र, Pcos, पारिवारिक इतिहास और स्ट्रेस।

Related image,nari

क्या है टाइप-2 डायबिटीज?

टाइप-2 डायबिटीज में व्यक्ति के शरीर में इंसुलिन का उत्पादन कम हो जाता है, जिस वजह से उसके द्वारा खाया हुआ भोजन अच्छे से पच नहीं पाता। अगर समय रहते इस बीमारी पर पकड़ न पाई जाए तो अल्जाइमर यानि भूलने की बीमारी, त्वचा संबंधित रोग और गुर्दे तक फेल होने की नौबत आ सकती है।

Related image,nari

डायबिटीज एक ऐसी हेल्थ प्रॉबल्म है जिससे जुड़े हर किसी के पास अपने मिथ हैं। आइए जानते हैं कितने सच हैं ये मिथ?

मोटापा

कुछ लोगों का मानना है कि मोटापे के शिकार लोग अन्य लोगों के मुकाबले डायबिटीज का शिकार होते हैं। मगर ये बात पूरी तरह से सच नहीं है। टाइप-2 डायबिटीज ज्यादातर पारिवारिक इतिहास और स्ट्रेस की वजह से ज्यादा होती है।

हार्ट स्ट्रोक

ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें बिना डायबिटीज के दिल का दौरा पड़ता है। अमेरिका में हुए एक शोध के मुताबिक बात सामने आई है कि टाइप-2 डायबिटीज के पेशेंट बहुत कम दिल के दौरे का शिकार होते हैं।

Image result for heart stroke,anri

मीठे का सेवन

कुछ लोग डायबिटीज होने पर कुछ खास मीठे फल भी खाना छोड़ देते हैं। मगर जरुरत है तो तले हुए मीठे को छोड़ने की, आप सीमित मात्रा में रहकर एक हद तक मीठे फलों का सेवन कर सकते हैं।

तो ये थे टाइप-2 डायबिटीज से जुड़े कुछ खास मिथ।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News