14 AUGSUNDAY2022 9:56:24 PM
Nari

मंकीपॉक्स  को लेकर कनाडा में मचा बवाल, 800 के पार पहुंचे मामले

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 04 Aug, 2022 05:01 PM
मंकीपॉक्स  को लेकर कनाडा में मचा बवाल, 800 के पार पहुंचे मामले

कोरोना वायरस महामारी के बाद अब मंकीपॉक्स  ने बवाल मचाना शुरू कर दिया है। कई देशों में  तबाही मचा रहे इस खतरनाक वायरस ने कनाडा में आतंक मचा दिया है। यहां संक्रमितों की संख्या  800 के पार हो गई है, जो बाकी देशों के लिए बेहद चिंता का विषय बन गया है।

PunjabKesari
 स्वास्थ्य एजेंसी के मुताबिक बुधवार तक पुष्टि किए गए मामलों में से 423 मामले ओंटारियो से, 373 क्यूबेक से, 78 ब्रिटिश कोलंबिया से, 13 अल्बर्टा से, दो सस्केचेवान से और एक युकोन से सामने आए हैं। इस संकट को देखते हुए कनाडा सरकार ने इम्वाम्यून टीकों की 70,000 से अधिक खुराकों को तैनात किया है और सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रतिक्रियाओं के प्रबंधन के लिए अधिकार क्षेत्र के साथ सक्रिय रूप से काम करना जारी रखा है।

PunjabKesari
खबरों की मानें तो कनाडा की नेशनल माइक्रोबायोलॉजी लैबोरेटरी मंकीपॉक्स का कारण बनने वाले वायरस के लिए नैदानिक परीक्षण कर रही है। वहीं इसी बीच केंद्र सरकार ने मंकीपॉक्स के मामलों से निपटने के लिए मौजूदा दिशा निर्देशों पर पुनर्विचार करने को लेकर शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञों की एक बैठक बुलाई है। देश में मंकीपॉक्स के अब तक नौ मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से एक मरीज की मौत हो गयी है।

PunjabKesari
केंद्र द्वारा ‘‘मंकीपॉक्स बीमारी के प्रबंधन पर जारी दिशा निर्देशों’’ के अनुसार, अगर किसी व्यक्ति ने पिछले 21 दिनों के भीतर प्रभावित देशों की यात्रा की है और उसके शरीर पर लाल चकत्ते पड़ने, लसिका ग्रंथियों में सूजन, बुखार, सिर में दर्द, शरीर में दर्द और बहुत ज्यादा कमजोरी जैसे लक्षण दिखायी देते हैं तो उसे ‘संदिग्ध’ माना जाएगा। 

PunjabKesari

अगर कोई व्यक्ति किसी संक्रमित में पहला लक्षण दिखायी देने और त्वचा पर जमी पपड़ी के गिर जाने तक की अवधि के दौरान उसके एक से अधिक बार संपर्क में आता है तो उसे संपर्क में आया व्यक्ति माना जाएगा। डब्ल्यूएचओ ने हाल में मंकीपॉक्स को वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति घोषित किया था। उसके अनुसार, मंकीपॉक्स पशुओं से मनुष्यों में फैलने वाला संक्रमण है और इसके लक्षण चेचक जैसे होते हैं।
 

Related News