16 OCTWEDNESDAY2019 10:25:50 PM
Nari

घर में नेगेटिविटी घूसने नहीं देती मछलियां, जानिए Aquarium से जुड़े वास्तु टिप्स

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 18 Sep, 2019 04:48 PM
घर में नेगेटिविटी घूसने नहीं देती मछलियां, जानिए Aquarium से जुड़े वास्तु टिप्स

अगर धार्मिक, ज्योतिष और वास्तु के अनुसार, एक्वेरियम बहुत महत्व रखता है, खासकर महिलाओं के लिए। दरसअल, जीवनदायनी एक महिला ही है और पुरूष के पास ऐसी कोई सुविधा नहीं है। एक्वेरियम वास्तु का एक सरआउंडिंग है, जो अपने आप में जीवन लेकर चलता है, जहां जीवन के साथ-साथ प्रजनन भी होता है। चलिए Pandit Kamal Nandlal से जानते हैं कि वास्तु के हिसाब से एक्वेरियम कहां रखना चाहिए।

 

एक्वेरियम में सम्मिलित होते हैं 9 ग्रह

एक्वेरियम 9 ग्रहों का प्रतीक है। जितनी भी मछलिया या जलचर है वो सारे शनि का प्रतीक हैं। वहीं जल को चंद्रमा का प्रतीक है। आपने देखा होगा कि एक्वेरियम में नमक मिलाया जाता है, जो राहु का प्रतीक है। इसके अलावा एक्वेरियम में मौजूद आक्सीजन - बुद्ध, उनको खिलाया जाने वाला खाना - बृहस्पति, मछलियों में इंटरेक्शन होना - शुक्र, मछली के मर जाने पर नई फिश लाना मोक्ष केतु का प्रतीक है।

PunjabKesari

किसी दिशा में रखें एक्वेरियम

एक्वेरियम का जल मछलियों के कारण हिलता है इसलिए इसे उत्तर व उत्तर-पूर्व दिशा में रखना शुभ माना जाता है। इसके अलावा आप इसे पूर्व दिशा में भी रख सकते हैं। अगर किसी कारण यहां जगह खाली नहीं है को आप इसे उत्तर-पश्चिम दिशा में रख सकते हैं।

इस दिशा में न रखे एक्वेरियम

भूलकर भी एक्वेरियम को दक्षिण-पूर्व, दक्षिण, पश्चिम व दक्षिण-पश्चिम में ना रखें। इससे घर में नेगिटिव एनर्जी आ सकती है।

घर के लिए शुभ होता है एक्वेरियम

कहते हैं बहता हुआ जल ही हमें जीवन देता है लेकिन एक्वेरियम का जल रूका होता है। दरअसल, एक्वेरियम में मौजूद मछलिया उसके पानी को हिलाती रहती है इसलिए इसे घर में रखना शुभ माना जाता है।

PunjabKesari

वास्तु दोष के कारण मरती हैं मछलियां

आपने देखा होगा कि कई बार मछलियां खुद ब खुद मरनी शुरू हो जाती है। बता दें कि इसका कारण वास्तु दोष और घर में नेगटिव वातावरण हो सकता है। इसके अलावा वायु का कम हो जाना, जब बुद्ध दिशा कम पड़ जाए तो उसके कारण मछलियां मरनी शुरू हो जाती है। इसके अलावा प्रापर लाइट न होने के कारण सूर्य का तत्व कमजोर हो जाता है। मछलियों को भोजन न करवाने से बृहस्पति खराब हो जाता है। इसके अलावा कुंडली में चंद्रमा यानि एक्वेरियम का पानी गंदा होने के कारण भी मछलिया मरनी शुरू हो जाती है।

महिलाओं के लिए शुभ है ये मछलिया

अगर आप चाहती हैं तो आपके घर में सुख-समृद्धि के साथ परिवार की सेहत सही रहे तो अपने एक्वेरियम में 7 लाल और 2 काली मछलियां रखे। 7 लाल मछलिया ग्रहों और 2 काली मछलियां राहू-केतु का प्रतीक होती है। आप चाहें तो 7 लाल और 1 काली मछली भी रखवा सकते हैं।

न्यूली मैरिड कपल्स के लिए

अगर आपकी नई-नई शादी हुई है और आप अपने रिश्ते में रोमांस चाहते हैं तो एक्वेरियम में 7 सिल्वर और 2 नीली मछलियां रखें। आप स्टार फिश भी रखवा सकते हैं।

नेगिटिव एनर्जी दूर करने के लिए

घर से नेगेटिविटी दूर करने के लिए काली मछलियां रखें। साथ ही वास्तु के अनुसार, मछलियों को गेस्ट रूम या ड्राइंग रूम में रखना ही शुभ होता है इसलिए इसे बेडरूम या घर की ओर स्थान में न रखें।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News