21 APRWEDNESDAY2021 8:57:15 PM
Nari

कहीं गृहिणी को बीमार ना कर दें Kitchen, जरूर करें इन बातों पर गौर

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 31 Jan, 2021 01:11 PM
कहीं गृहिणी को बीमार ना कर दें Kitchen, जरूर करें इन बातों पर गौर

जैसा अन्न वैसे मन, यह कहावत तो आपने सुनी ही होगी। कहते हैं कि किचन घर की ऐसी जगह होती है जो अच्छी सेहत के अलावा घर की सुख-समृद्धि से भी जुड़ी हुई है। वहीं, रसोईघर में कदम रखते ही घर की गृहिणी अन्नपूर्णा और भोज्यकर्ता बन जाती है क्योंकि मां अन्‍नपूर्णा का वास माना जाता है। लेकिन अगर किचन का वास्तु सही ना हो यह महिलाओं के अलावा परिवार की सेहत भी बिगाड़ सकती है। यही नहीं, इससे घर में कई परेशानियां भी उत्पन्न हो सकती हैं। चलिए आपको बताते हैं किचन में आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए...

किचन में गैस स्‍टोव की सही दिशा

वास्तु के अनुसार, गैस स्टोव भी दक्षिण-पूर्व दिशा में रखना चाहिए यानि जब आप खाना बनाएं तो आपका मुंह दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ हो। ईस्ट और साउथ डायरेक्शन में भी खाना बना सकती हैं लेकिन ध्यान रखें कि किचन का शेल्फ गैस बर्नर के ऊपर ना हो। साथ ही गैस सैलेंडर साउथ दिशा में रखें।

PunjabKesari

किचन की सही दिशा

किचन हमेशा आग्नेय कोण यानि दक्षिण-र्व दिशा में होना चाहिए। जहां मंग और सूर्य की रेखाएं टकराती है वहां शुक्र की डायरेक्शन क्रिएट हो जाती है इसलिए इस दिशा में किचन बनवाना शुभ माना जाता है। वहीं, दक्षिण-पश्चिम में बनी किचन परिवार के पुरुष सदस्‍यों की परेशानी बढ़ा सकती है।

सही दिशा में मुंह करके पकाएं खाना

सबसे पहले तो किचन को हमेशा साफ-सुथरा रखें और हमेशा हमेशा दक्षिण-पूर्व दिशा में मुंह करके ही खाना पकाएं। इस दिशा में बनाया गया खाना पौष्टिक होता है  इसमें औरबैक्टीरिया ग्रोथ भी कम होती हैं। साउथ ईस्ट डायरेक्शन को काफी गर्म माना जाता है इसलिए इस दिशा में खाना ना बनाएं।

महिलाओं को रहती है यह समस्‍याएं

गलत दिशा में मुंह करके भोजन पकाने से महिलाएं शारीरिक व मानसिक रूप से बीमार पड़ सकती हैं। वहीं इससे महिलाओं को अपच और जोड़ों के दर्द ही समस्याएं भी हो सकती हैं।

PunjabKesari

आग और पानी एक साथ हो जाएं तो ...

किचन में गैस स्‍टोव और नल का एक-साथ होना सबसे बड़ा दोष माना जाता है। इसे ना सिर्फ परिवार में अनबन रहती है बल्कि सेहत पर भी असर पड़ता है इसलिए ध्यान रखें कि दोनों चीजें एक-साथ ना हो।

इस बात का रखें ध्‍यान

मॉड्यूलर किचन बनवाने में कोई बुराई तो नहीं है लेकिन ध्‍यान रखें कि जहां जहां महिलाएं खड़े होकर खाना बनाए वहां और मेन दरवाजे के बीच पर्दा हो। नहीं तो आपके घर में नकारात्‍मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ सकता है और साथ ही इससे महिलाओं की सेहत पर भी असर पड़ेगा।

कैसे हो किचन का रंग?

स्लैब या किचन की दीवारों का रंग काला नहीं होना चाहिए। इसकी बजाए आप क्रीम, सिल्वर, पेस्टल या कोई भी लाइट कलर करवा सकते हैं। इसके अलावा कभी भी ग्रे, ब्राउन और ब्लैक रंग भी ना करवाएं।

PunjabKesari

Related News