04 JULSATURDAY2020 7:30:26 AM
Nari

Inspiring Story: जब एक महिला ने कहा, ‘तुम कहीं की कलेक्टर हो’ डॉक्टरी छोड़ IAS बनी प्रियंका

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 03 Jun, 2020 05:20 PM
Inspiring Story: जब एक महिला ने कहा, ‘तुम कहीं की कलेक्टर हो’ डॉक्टरी छोड़ IAS बनी प्रियंका

जब मन में कुछ कर दिखाने और अपने सपने को सच करने का जज्बा हो तो रास्ते की हर मुश्किल आसान लगती है। ऐसी ही कहानी है डॉक्टर से IAS ऑफिसर बनने वाली प्रियंका शुक्ला की, जिन्होंने अपने जुनून व कड़ी मेहनत से अपने मुकाम को हासिल किया। होनहार और कामयाब प्रियंका ना सिर्फ सोशल मीडिया पर बेहद पॉपुलर है बल्कि वो सभी महिलाओं के लिए प्रेरणा भी है। चलिए आपको बताते हैं प्रियंका की स्ट्रलिंग व इंस्पिरेशनल लाइफस्टोरी...

बेटी को DM बनाना चाहते थे पिता

प्रियंका बचपन से ही पढ़ाई में होशियार थी। उनके पिता हमेशा से ही उन्हें डीएम बनाना चाहते थे लेकिन हालात को देखते हुए उन्होंने मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनाने का फैसला लिया। साल 2006 में लखनऊ के किंग जॉर्ज्स मेडिकल यूनिवर्सिटी से MBBS की डिग्री ली और लखनऊ में ही प्रैक्टिस शुरू कर दी। इसी दौरान उनके साथ एक ऐसी घटना घटी, जिसने उन्हें IAS ऑफिसर बनने के लिए इंस्पायर किया।

Priyanka-Shukla-IAS | TBI9

इस घटना ने बदल दी जिंदगी

लखनऊ में प्रैक्टिस करते हुए एक बार प्रियंका स्लम एरिया में लोगों के चेकअप के लिए गईं। जहां उन्होंने लोगों को उनकी हेल्थ प्रॉब्लम्स के लिए दवाएं और कंसल्टेशन दी। मगर, इस दौरान उन्होंने एक महिला को गंदा पानी पीते हुए देखा। यही नहीं, वह महिला अपने बच्चों को भी गंदा पानी पिला रही थी। जब प्रियंका ने उन्हें मना किया तो जवाब में उन्होंने कहा, तुम कहीं की कलेक्टर हो क्या? बस यही शब्द प्रियंका के मन में घर कर गए और उन्होंने कलेक्टर बनने का फैसला किया।

दूसरी बार में मिली कामयाबी

समाज को सुधारने और झुग्गी-झोपड़ी में रहने वालों की स्थिति को बदलने के लिए IAS की पढ़ाई शुरू की और यूपीएससी की परीक्षा दी। मगर, उनका पहला अटेंप्ट कामयाब नहीं हो पाया लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और दोबारा परीक्षा दी। फिर क्या था दूसरी बार उन्होंने अच्छे रैंक से परीक्षा पास कर ली।

Inspirational story of MBBS doctor Priyanka Shukla who became IAS ...

मिल चुके है कई अवॉर्ड्स

उनके सराहनीय प्रयासों के लिए प्रियंका को अब तक कई अवॉर्ड्स से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें सेंसस 2011 के दौरान उत्कृष्ट सेवाएं देने के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तरफ से सेंसर सिल्वर मैडल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था। यही नहीं, साक्षरता के क्षेत्र में अपने प्रयासों के लिए उन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है।

सोशल मीडिया पर रहती हैं एक्टिव

छत्तीसगढ़ की आईएएस अफसर प्रियंका शुक्ला सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहती हैं। वह इन दिनों फील्ड के साथ ही ट्विटर के जरिए कोरोना के खिलाफ जिस तरह से जगरुकता फैला रही हैं लोग उसकी खूब तारीफ कर रहे हैं।

Know About the interesting story of IAS Priyanka Shukla who is ...

फिलहाल वह छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के डीएम के रूप में पोस्टेड हैं। अपनी कड़ी मेहनत से उन्होंने इस जिले की तस्वीर बदल दी है। प्रियंका सिर्फ अपनी ऑफिशियल रेस्पॉन्सिबिलिटीज का ही निर्वहन नहीं करतीं बल्कि वह जोर-शोर से इस जिले के लोगों के जीवन को बेहतर बनाने में लगी हैं।

Related News