16 APRFRIDAY2021 5:14:55 PM
Nari

आयुर्वेदिक हर्ब्स जो लिवर को रखेंगे एकदम दुरुस्त

  • Edited By neetu,
  • Updated: 05 Feb, 2021 02:41 PM
आयुर्वेदिक हर्ब्स जो लिवर को रखेंगे एकदम दुरुस्त

शरीर के बाकी अंगों के साथ लिवर भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह भोजन को पचाने, ब्लड शुगर कंट्रोल करने व शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। साथ ही बॉडी में कार्बोहाइड्रेट को स्टोर करने व प्रोटीन बनाने और जरूरी पोषक तत्वों को अवशोषित करता है। ऐसे में इसका स्वस्थ रहना बेहद जरूरी है। नहीं तो फैटी लिवर, पीलिया या लिवर के सिकुड़न की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। लिवर को हैल्दी बनाएं रखने के लिए आप अपनी डेली डाइट में कुछ हर्ब्स को शामिल कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इन आयुर्वेदिक हर्ब्स के बारे में विस्तार से...

गुणों से भरपूर आंवला

विटामिन-सी की कमी पूरी करने के लिए आंवला का खासतौर पर सेवन किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल गुण इम्यूनिटी स्ट्रांग करने के साथ लिवर में फैट जमा होने से रोकते हैं। फैटी लिवर की समस्या होने पर इसका जूस पीना कारगर साबित होता है। आप इसका कच्चा, मुरब्बा, आचार या पाउडर के तौर पर सेवन कर सकते हैं। 

PunjabKesari

औषधीय समान है लहसुन 

लहसुन में विटामिन, आयरन, फाइबर, कैल्शियम, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल आदि गुण होते हैं। आयुर्वेद में इसे औषधीय स्वरूप कहा जाता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, रोजाना 1- 2 लहसुन की कलियों का सेवन करने से लिवर से जुड़ी परेशानियों के होने का खतरा कम रहता है। यह लिवर को स्वस्थ रखने के साथ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। ऐसे में बीमारियों से बचे रहने के लिए लहसुन को अपनी डेली डाइट में जरूर शामिल करें। आप लहसुन का प्रयोग सब्जी में करने के साथ इसका अचार बना कर खा सकते हैं। इसके अलावा लहसुन की कलियों को भुन कर भी खाया जा सकता है। मगर इसे अधिक मात्रा में खाने से बचें। 

PunjabKesari

त्रिफला होगा फायदेमंद 

आयुर्वेद में त्रिफला को बेहद ही फायदेमंद माना जाता है। यह एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है, जो शरीर को बीमारियों की चपेट में आने से बचाती है। बात इसके नाम की करें तो त्रिफला का अर्थ है- तीन चीजों से बना हुआ। ऐसे में यह मुख्य रूप से हरीतकी, बिभीतकी व आंवला से तैयार किया जाता है। इसे खाने से लिवर सही से काम करता है। ऐसे में इससे जुड़ी परेशानियों के होने का खतरा कम रहता है। साथ ही इससे मेटाबॉजिल्म बूस्ट होने में मदद मिलती है। ऐसे में दिनभर एनर्जेटिक महसूस होता है। 

ग्रीन टी

लिवर को हैल्दी रखने के लिए ग्रीन-टी भी बेहद फायदेमंद होती है। खासतौर फैटी लिवर की समस्या होने पर दिन में 2 बार ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। इससे सूजन कम होने के साथ लिवर तंदुरुस्त होता है। 

Related News