12 AUGFRIDAY2022 8:29:12 AM
Nari

पुरुषों में Diabetes के 7 लक्षण, नजरअंदाज ना करें सेहत को होगा खतरा

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 24 Dec, 2020 02:46 PM
पुरुषों में Diabetes के 7 लक्षण, नजरअंदाज ना करें सेहत को होगा खतरा

डायबिटीज एक ऐसी क्रॉनिक व मेटाबॉलिक विकार है, जिसमें इंसुलिन का स्त्राव कम हो जाने से खून में ग्लूकोज स्तर समान्य से अधिक या कम हो जाता है। पहले जहां उम्रदराज लोगों को यह बीमारी होती थी वहीं अब बच्चे भी इसके शिकार हो रहे हैं, खासकर पुरुष। मगर, आप शायद यह नहीं जानते कि अगर बीमारी आऊट ऑफ कंट्रोल हो जाए तो आंखें, किडनी, दिल व अन्य अंगों पर बुरा असर पड़ सकता है।

ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप समय रहते इसके लक्षणों को पहचानकर बीमारी को कंट्रोल करें। पुरुषों में इसके लक्षण कुछ अलग होते हैं, जिसके बारे में आज हम आपको बताएंगे...

इरेक्टाइल डिसफंक्शन

शरीर में शुगर लेवल बढ़ने की वजह से तंत्रिका और धमनियां डैमेज होने लगती है, जिसके कारण इरेक्टाइल डिसफंक्शन हो सकता है। स्टडी के अनुसार, मेटाबोलिक सिंड्रोम के कारण 89% पुरुष इरेक्टाइल डिस्फंक्शन महसूस करते हैं, जो डायबिटीज का सबसे शुरूआती लक्षण भी है।

PunjabKesari

बार-बार पेशाब लगना

दिनभर कम से कम 9 बार बॉथरूम जाना नॉर्मल है लेकिन अगर रात में हर 2 घंटे के बीच पेशाब आ जाए तो इसे हल्के में ना लें। प्रोस्टेट बढ़ने की वजह से पुरुषों में यह समस्या आ सकती है, जो डायबिटीज की ओर इशारा करता है।

यीस्ट इंफेक्शन

सिर्फ महिलाएं ही नहीं बल्कि डायबिटीज के कारण पुरुषों में भी यीस्ट इंफेक्शन की समस्या हो सकती है। इसपर समय रहते ध्यान देना बहुत जरूरी है कि क्योंकि यीस्ट इंफेक्शन का असर लिंग पर भी पड़ता है।

PunjabKesari

थकान

बेवजह थका-थका महसूस करने लगे हैं तो उसे अनदेखा ना करें। खून में शुगर लेवल बढ़ने की वजह से एनर्जी कम हो जाती है, जिसका कारण थकान महसूस होने लगती है। ऐसे में आपको ब्लड शुगर चेक करवाना चाहिए।

वजन बढ़ना

रिसर्च के मुताबिक, डायबिटीज के कारण महिलाओं की तुलना में पुरुषों का वजन कम बढ़ता है। ऐसे में अचानक वजन बढ़ने लगे तो एक बार चेकअप करवा लें। इसके अलावा खराब खान-पान के कारण भी मोटापे और उससे डायबिटीज की संभावना बढ़ जाती है।

PunjabKesari

सीने में दर्द

प्री-डायबिटीज में पुरुषों को मेटाबोलिक समस्याएं, हाई ब्लड प्रेशर, सीने में दर्द और इस्केमिया की समस्या भी हो सकती है। ऐसे में एक्सरसाइज के दौरान शरीर पर बहुत अधिक भार ना डालें। इसके साथ ही एक बार डॉक्टर भी चेकअप करवाएं।

प्रीमेच्योर इजेकुलेशन

प्रीमेच्योर इजेकुलेशन जैसी दिक्कतें मेटाबोलिक सिंड्रोम के कारण हो सकती है, जिससे टाइप-2 डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। शोध के मुताबिक, 23% डायबिटीक पुरुषों ने प्रीमेच्योर इजेकुलेशन और 5% डिलेड इजेकुलेशन महसूस करते हैं।

PunjabKesari

अगर घर में कोई मेडिकल हिस्ट्री हो तो उसके कारण भी डायबिटीज की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में आपको समय-समय पर ब्लड शुगर चेक करवाते रहना चाहिए।

Related News