Twitter
You are hereLife Style

इस बाप-बेटी की जोड़ी ने रोशन किया देश का नाम, माउंट एवरेस्ट पर गाढ़ा झंड़ा

इस बाप-बेटी की जोड़ी ने रोशन किया देश का नाम, माउंट एवरेस्ट पर गाढ़ा झंड़ा
Views:- Friday, May 18, 2018-10:46 AM

माउंट एवरेस्ट दुनियाभर के पर्वतारोहियों के लिए रहस्य का विषय बना हुआ है। इसके बावजूद भी पर्वतारोही माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई करने के लिए कोशिश करते रहते हैं। 29 मई 1953 को पहली बार माउंट एवरेस्ट पर न्यूजीलैंड के एडमंड हिलेरी और नेपाली मूल के भारतीय नागरिक तेनसिंह नोर्गे शेरपा चढ़े थे। उनके बाद अब तक कई लोग एवरेस्ट पर चढ़ाई कर चुके है लेकिन हाल ही में गुड़गांव में रहने वाले अजीत बजाज और दीया बजाज बुधवार को दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट को फतह करने वाले पहले भारतीय पिता-पुत्री बन गए।

PunjabKesari

गुरूग्राम के अजीत बजाज और 24 वर्षीय दीया बजाज की पिता-पुत्री की जोड़ी माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई करने वाली भारत की पहली जोड़ बनी है। पठानकोट में जन्में अजीत बजाज ने अपनी बेटी दीया के साथ मिलकर सुबह 4:30 बजे विश्व की सबसे ऊंची माउंट ऐवरेस्ट चोटी पर चढ़कर शहर का नाम रोशन किया है। जहां कुछ लोग बेटी के होने का दुख मनाते है वहीं, अजीत बजाज अपनी बेटी के साथ एवरेस्ट की चढ़ाई करके लोगों को यह संदेश देना चाहते है कि सही अवसर मिलने पर लड़कियां भी उच्चतम शिखर तक पहुंच सकती है।

PunjabKesari

अजीत बजाज ने अपनी बेटी के साथ एवरेस्ट की चढ़ाई करके गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कर लिया है। टीओआई ट्रैकर अजीत बजाज और दिया बजाज ने माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई करके एक नया इतिहास बनाया है।

PunjabKesari

आपको बता दें कि अजीत बजाज और उनकी पर्वतारोही बेटी दीया ने 16 अप्रैल को इस अभियान की शुरुआत की थी। रास्ते के तमाम खतरों और ऊंचाई पर तेजी से बदलते मौसम से जूझते हुए आखिरकार यह जोड़ी माउंट एवरेस्ट पर फतह हासिल करने में कामयाब रही। दीया का कहना है कि माउंट एवरेस्ट से सूर्योदय होते देखना उनके लिए एक खूबसूरत अनुभव है। 53 वर्षीय अजीत पद्मश्री से भी सम्मानित किए जा चुके हैं। वह भीतर उत्तरी ध्रुव और दक्षिणी ध्रुव जाने वाले भी पहले भारतीय बन चुके है।

PunjabKesari


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Latest News