28 JUNTUESDAY2022 11:18:48 AM
Nari

नेपाल की वो खूबसूरत जगह, जहां एक बार जरूर जाना चाहिए घूमने

  • Edited By palak,
  • Updated: 20 May, 2022 06:02 PM
नेपाल की वो खूबसूरत जगह, जहां एक बार जरूर जाना चाहिए घूमने

नेपाल का प्राकृतिक दृश्य सैलानियों बहुत ही पसंद आता है। हर साल लाखों की कगार में सैलानी इस जगह की सैर करने के लिए आते हैं। पयर्टन के मुताबिक, नेपाल को बहुत ही संपन्न माना जाता है। यहां पर ऐसे बहुत से पर्यटक स्थल हैं यहां पर सैलानी घूमने के लिए आते हैं। ट्रैकिंग के शौकिन लोगों के लिए और प्राकृतिक प्रेमियों के लिए नेपाल एक बहुत ही अच्छी जगह है। तो चलिए आपको आज नेपाल की कुछ खास जगहों के बारे में बताते हैं...

काठमांडू

आप नेपाल की राजधानी काठमांडू की सैर भी कर सकते हैं। यह लगभग  400 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।  यहां का तापमान सारा साल ठंडा ही रहता है। मठों, मंदिरों और अध्यात्मिक स्थानों के लिए काठमांडू बहु ही प्रसिद्ध जगह है। काठमांडू का शांती और प्राकृतिक सुंदरता यात्रियों को बहुत ही भाती है। 

PunjabKesari

स्वयंभूनाथ मंदिर 

काठमांडू के पश्चिम में एक चोटी पर 3 किलोमीटर की दूरी पर स्वयंभूनाथ मंदिर स्थित है। यहां का स्वयंभू स्तूप मंदिर और परिसर पर्यटकों को काफी पसंद आता है। स्वंयभू मंदिर को मंकी टेंपल के नाम से भी जाना जाता है।  

PunjabKesari

पोखरा 

पोखरा भी नेपाल की खूबसूरत और लोकप्रिय जगहों में से एक है। यह जगह हिमालय की तलहटी में फैली हुई है। इस जगह की सैर करने हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। यह शहर 900 मीटक की ऊंचाई पर स्थित है। आप यहां पर रोमांचक गतिविधियों का आनंद भी ले सकते हैं। 

PunjabKesari

लुम्बिनी 

गौतम बुद्ध की जन्मस्थली लुम्बिनी यूनेस्को विश्व की धरोहर में भी शामिल है। यह शहर हिमालयों से घिरा हुआ है। यहां के स्तूप और मठ बहुत ही आकर्षक हैं। इस जगह को सम्राट अशोक के स्मारक और स्तब्ध के रुप में भी जाना जाता है। शास्त्रों, धर्म और अध्यात्म के लिए भी यह जगह बहुत ही प्रसिद्ध है। यहां का मंदिर माया देवी भी बहुत ही आकर्षक है। 

PunjabKesari

पशुपतिनाथ मंदिर 

नेपाल राज्य के हिंदू मंदिरों में से एक पशुपतिनाथ मंदिर भी है। यह काठमांडू से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। बागमती नदी के किनारे पर बसा हुआ यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। साल 1979 में इसे  यूनेस्को को विश्व धरोहर स्थल में भी शामिल किया गया था। 2015 में एक खतरनाक भूकंप के कारण मंदिर के बाहरी दीवारें खराब हो गई थी। लेकिन मंदिर अंदर से आज भी सुरक्षित है। 

PunjabKesari
 

Related News