14 AUGSUNDAY2022 11:25:39 PM
Nari

अजवाइन काढ़ा बढ़ाएगा शिशु की इम्यूनिटी, सर्दी-जुकाम से रहेगा बचाव

  • Edited By neetu,
  • Updated: 16 Dec, 2021 03:43 PM
अजवाइन काढ़ा बढ़ाएगा शिशु की इम्यूनिटी, सर्दी-जुकाम से रहेगा बचाव

बच्चे का पहली सर्दी में खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। असल में, शिशु की इम्यूनिटी कमजोर होती है। ऐसे में इस दौरान उसका सर्दी, जुकाम, खांसी आदि की चपेट में आने का खतरा अधिक रहता है। इससे वे अन्य बीमारियों की चपेट में भी आ सकता है। मगर छोटे बच्चे को एंटीबायोटिक नहीं दी जा सकती हैं। ऐसे में आप चाहे तो घर पर तुलसी-अजवाइन का काढ़ा बनाकर शिशु को पिला सकती है। इससे कुछ दिनों में ही बच्चे को आराम महसूस होगा। चलिए जानते हैं इसे बनाने का तरीका...

अगर बच्चा 3 महीने का हो

आप अपने 3 महीने या इससे कम के शिशु को भाप, नेचर ड्रॉप्स, सिर को उठाकर रखना, सरसों तेल से मसाज आदि घरेलू नुस्खों से सर्दी-जुकाम से बचा सकते हैं।

काढ़ा बनाने की सामग्री

तुलसी की पत्तियां- 4-5
अजवाइन- 1चम्मच
अदरक- ½ चम्मच (कद्दूकस किया)
दालचानी पाउडर- ½ चम्‍मच
हल्दी- 1 चम्मच
धनिया पाउडर- 1 चम्मच
सितोपलादि- 1 चुटकी
गुड़- जरूरत अनुसार
पानी- 1 गिलास

​काढ़ा बनाने की विधि

. सबसे पहले गुड़ को छोड़कर बाकी की सामग्री को पैन में डालें और उबालें।
. मिश्रण के ¼ होने पर इसे आंच से उतार लें।
. अब इसमें गुड़ डालकर मिलाएं और ठंडा होने दें।
. बाद में इसे छानकर कांच के कंटेनर में भरकर फ्रिज में स्टोर कर लें।

ऐसे पिलाएं शिशु को काढ़ा

. काढ़ा शिशु को पिलाने से कुछ घंटे पहले इसे फ्रिज से निकाल लें। फिर हल्का गर्म होने पर ही इसे बच्चे को पिलाएं।
. सभी नेचुरल चीजों से तैयार यह काढ़ा सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है। सर्दी, जुकाम आदि से बचने के लिए शिशु को रोजाना सुबह उठने के बाद व सोने से पहले 1-1 चम्मच काढ़ा पिला सकते हैं।

शिशु के काढ़ा पिलाने की सही उम्र

अगर आपका बच्चा 6 महीने से ऊपर है तो आप इस आयुर्वेदिक काढ़े को उसे पिला सकती हैं। मगर फिर भी 6 महीने से 1 साल तक के शिशु को दालचीनी और सितोपलादि देने से बचें।

शिशु के लिए तुलसी-अजवाइन काढ़ा पिलाने के फायदे

रिसर्च अनुसार, अजवाइन में एंटी-सेप्टिक, कफ निस्‍सारक, एंटी-माइक्रोबियल, परजीवी-रोधी गुण होते हैं। इसका सेवन करने से कफ, गले में खराश, दर्द, सर्दी, जुकाम, खांसी आदि से आराम मिलता है। इसके साथ ही इस काढ़े को पीने से इम्यूनिटी तेजी से बूस्ट होती है। बीमारियों की चपेट में आने का खतरा कम रहता है।

 

Related News