22 JULMONDAY2024 4:58:45 PM
Nari

मशहूर टॉय ब्रांड ने भारतीय मार्केट में किया प्रवेश, हैदराबाद में खोला अपना पहला स्टोर

  • Edited By Charanjeet Kaur,
  • Updated: 13 Mar, 2023 12:23 PM
मशहूर टॉय ब्रांड ने भारतीय मार्केट में किया प्रवेश, हैदराबाद में खोला अपना पहला स्टोर

मशहूर टॉय ब्रांड 'टॉयज आर यूएस' (ToysRU) ने दूसरी बार भारत की मार्केट में प्रवेश किया है। इन्होनें अपना पहला स्टोर हैदारबाद में खोला है। इस टॉय ब्रांड का मकसद भारत में कम से कम 1.5 बिलियन डॉलर की टॉय मार्केट को टैप करना है, हालांकि भारत में 90% टॉय मार्केट अभी भी असंगठित है। यूएस-आधारित इस टॉयज रिटेलर एक ओमनीचैनल दृष्यिकोण के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं। ब्रांड की चाहत है कि वो पहले पूरे देश में छोटे-छोटे स्टोर्स खोलें ताकि उनको लोगों की उनके ब्रांड के लिए प्रतिक्रया का बेहतर पता चले, जिसके बाद ही वो इसका पूरे जोरो-शोरों से  प्रमोशन करेगें।

PunjabKesari

इन खिलौनों का ऑनलाइन स्टोर  toyrus.in है और वो इस विशेष रुप से ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट (FlipKart) और मंयत्रा (Myntra) पर भी बेचेगें। इस टॉय कंपनी का भारत में लाइसेंस ऐस टर्टल (Ace Turtle) और फ्लिपकार्ट के पास 50:50 है। आपको बता दें कि कोरोना से ठीके पहले भी  'टॉयज आर यूएस' (ToysRU) ने भारत की मार्केट में प्रवेश किया था। उस वक्त उनके भारतीय लाइसेंस पार्टनर कोई और थे, लेकिन  कोविड महामारी के चलते उन्हें अपने लगभग 10 से 12 स्टोर यहां पर बंद करने पड़े थे। कंपनी का प्लान भारत में अगले 3 सालों में  'टॉयज आरयूएस' (ToysRU) के 5000-15000 वर्ग फुट के  लगभग 75 स्टोर खोलने का हैं । वहीं देश के बाहर इन स्टोर्स का साइज 50000-75000 वर्ग फुट के बीच है।

PunjabKesari

आपको बता दें कि कंपनी ने मार्केट में अपनी पहचान बनाने के लिए डार्क स्टोर स्थापित कर लिए है जिससे ऑनलाइन खिलौनें की डिमांड पूरी की जाएगी। खिलौनों की कीमत 1000 रुपये से शुरु होकर 25000 रुपये तक जाती है। वहीं इस बारे में  'टॉयज आर यूएस' (ToysRU) के भारतीय पार्टनर ऐस टर्टल के सीईओ नितिन छाबड़ा ने कहा है कि 'भारत में इन खिलौनों के स्टोर छोटे होंगे, इसकी वजह है कि भारत के लॉन्च और दुनिया भर के दूसरे जगहों के लॉन्च में बड़ा फर्क है।  दूसरे जगहों पर  'टॉयज आर यूएस' (ToysRU) के सिर्फ स्टोर ही है, लेकिन यहां पर हम स्टोर्स के अलावा ऑनलाइन भी अपने ग्राहकों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं। हम यहां पर कुछ नया करने जा रहे है'।

PunjabKesari

Related News