04 MARTHURSDAY2021 3:55:38 PM
Nari

इन 4 लोगों अधिक रहता है सर्दी-जुकाम और फ्लू का खतरा, जान लें कैसे बचें

  • Edited By neetu,
  • Updated: 21 Jan, 2021 05:14 PM
इन 4 लोगों अधिक रहता है सर्दी-जुकाम और फ्लू का खतरा, जान लें कैसे बचें

मौसम में बदलाव आने से सर्दी, खांसी, बुखार आदि फ्लू होना आम बात है। वैसे तो लोग इस समस्या से जल्दी ठीक हो जाते हैं। मगर कइयों को ठीक होने में समय लगता है। साथ ही बहुत से लोग बार-बार फ्लू की चपेट में आने लगते हैं। असल में, इसके पीछे के कारण हमारी इम्यूनिटी लेवल से जुड़ा होता है। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम होने पर बार-बार बीमारियां लगना व इससे ठीक होने में समय लगता है। ऐसे में कुछ लोगों को अपने खास केयर करने की जरूरत होती है। तो चलिए आज हम आपको उन लोगों के बारे में बताते हैं, जिन्हें फ्लू होने का खतरा दूसरे से अधिक रहता है। 

गर्भवती महिलाएं

गर्भवस्था में महिलाओं को सेहत का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। असल में, इस दौरान उनके शरीर में बहुत से बदलाव होते हैं। ऐसे में अगर वे पूरी तरह से स्वस्थ हो तो भी उनका बीमारियों की चपेट में आने का खतरा ज्यादा होता है। साथ ही डिलीवरी के 15 दिनों तक भी महिलाओं में कमजोरी रहती है। ऐसे में इन महिलाओं को फ्लू का संक्रमण होने का खतरा दूसरों की तुलना में अधिक रहता है। 

PunjabKesari

2 साल से कम आयु के बच्चे 

2 साल से कम आयु के बच्चों की इम्यूनिटी कम होने करने कारण बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम होती है। असल में, इस उम्र में उनका टीकाकरण पूरी तरह से विकसित नहीं हुआ होता है। ऐसे में इनका फ्लू की चपेट में आने का खतरा अधिक रहता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इसी कारण अक्सर 6 महीने से कम आयु के बच्चे को फ्लू के कारण अस्पताल में एडमिट करवाना पड़ता है। ऐसे में खासतौर पर 2 साल तक के बच्चों की सेहत का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। 

65 साल से अधिक के लोग 

उम्र बढ़ने के साथ इम्यूनिटी लो होने लगती है। ऐसे में बीमारियों की चपेट में आने का खतरा अधिक रहता है। इसके कारण शरीर में फ्लू के गंभीर लक्षण बढ़ने लगते हैं। ऐसे में बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम होने लगती है। इसी कारण खासतौर कर बुजुर्गों को फ्लू शॉट्स लेने के साथ डेली डाइट में पौष्टिक चीजों को शामिल करने की सलाह दी जाती है। इसके साथ ही इन्हें लाइफ स्टाइल में योगा, एक्सरसाइज आदि हैल्दी आदतों को अपनाना चाहिए। ताकि इम्यूनिटी बढ़ने की मदद मिल सके। 

PunjabKesari

पुरानी बीमारी से पीड़ित लोग

जो लोग पहले से ही किसी एलर्जी, सांस, दिल, किडनी संबंधित बीमारियों से परेशान है उनका फ्लू की चपेट में आने का खतरा अधिक होता है। ऐसे में बीमारी से लड़ने की क्षमता कम होती है। इसके साथ ही डायबिटीज, व हाई ब्लड से पीड़ित लोगों का भी इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। ऐसे में ये जल्दी ही फ्लू के शिकार हो सकते हैं। 

ऐसे करें बचाव...

- इन लोगों को खासतौर पर मौसम के हिसाब से खुद की देखभाल करने की जरूरत है। 
- ये लोग खाने में पौष्टिक व कम मसालेदार चीजों का सेवन करें। 

PunjabKesari
- मौसमी फलों  व सब्जियों का सेवन करना बेस्ट रहेगा। 
- रोजाना सोने से पहले गुनगुने दूध में चुटकीभर हल्दी मिलाकर पीएं। 
- शरीर में पानी की कमी ना हो ऐसे में रोजाना 8-9 गिलास पानी का सेवन करें। 
- अपनी डेली रुटीन में सैर, योगा को एक जरूरी हिस्सा बनाएं। 
- गर्भवती महिलाएं डाक्टर के कहे अनुसार अपनी डाइट का ख्याल रखें।
- बच्चों अक्सर खाने के मामले में आना-कानी करते हैं। ऐसे में पेरेंट्स उनकी डाइट का ध्यान रखें। 

Related News