17 MAYTUESDAY2022 3:14:43 AM
Nari

मेट गाला में नजर आया चोरी हुआ नेकलेस, भारतीय वापस मांग रहे 'महाराजा पटियाला' का ये हार

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 10 May, 2022 04:21 PM
मेट गाला में नजर आया चोरी हुआ नेकलेस, भारतीय वापस  मांग रहे 'महाराजा पटियाला' का ये  हार

मेट गाला रेड 2022 में कई दिलचस्प लुक्स देखने को मिले। मशहूर सेलिब्रिटीज ने डिफरेंट आउटफिट कैरी कर लाइमलाइट लूट ली। पॉपुलर इंटरनेट सेंसेशन एम्मा चेम्बरलेन भी इस शानदार शाम का हिस्सा रही। आउटफिट से ज्याद  एम्मा का नेक चोकरपीस चर्चा में रहा जिसमें  भारत से चोरी हो चुका दुनिया का सातवां सबसे बड़ा हीरा जड़ा हुआ था। यह हीरा 234 कैरेट का डी बीयर्स हीरा था।

PunjabKesari
यह हीरा पटियाला के राजा भूपिंदर सिंह का बताया जा रहा है। अब एम्मा के गले में इस हार को देखकर इसे भारत को वापस करने की मांग उठने लगी है। पॉपुलर इंटरनेट सेंसेशन की लुक की बात की जाए तो उन्होंने फुल स्लीव क्रॉप टॉप और व्हाइट स्कर्ट में वह काफी Slylish नजर आई।  उन्होंने अपनी जूलरी में डायमंड स्टडेड ट‍ियारा भी ऐड किया था, लेकिन सबसे ज्यादा ध्यान उनके नेक चोकरपीस ने खींचा।

PunjabKesari
अब सोशल मीडिया पर यह हार चर्चा का विषय बना हुआ है। लोगों का कहना है-  ये भारतीय इत‍िहास में दर्ज चुराया गया गहना है, ना क‍ि सेलेब्स को दिया जाने वाला कोई फैंसी पीस। कहा जाता है कि महाराजा भूपिंदर सिंह पटियाला के पास एक 2930 हीरो से निर्मित हार था। जिसमें दुनिया का सातवाँ सबसे बड़ा और कीमती हीरा जड़ा हुआ था।कहते हैं राजा भूपिंदर सिंह 1926 में आभूषण खरीदने के लिए पेरिस गए थे। कंपनी कार्टियर को कीमती रत्नों, हीरे एवं आभूषणों से भरा हुआ एक संदूक भेज कर एक अनोखे हार को बनाने का आर्डर दिया था।

PunjabKesari

बताया जाता है कि पेरिस की कार्टियर कंपनी को हार तैयार करने में पुरे तीन वर्ष का समय लगा था। इस नेकलेस में 2930 हीरों के अलावा इसमें ग्रहों की दिशा व दशा ठीक करने के लिए 13 रत्न जड़े हुए थे, जिनमें 18 कैरेट के दो रूबी शामिल हैं। देश की आज़ादी के बाद यह हार चोरी हो गया था ।  इसे तोड़कर अलग-अलग हिस्सों में बेच दिया गया।

PunjabKesari

नैकलेस में प्लेटिनम की चेन्स ही बची थीं। यह चेन्स 1994 में कार्टर कंपनी के अधिकारी एरिक नासबॉम को लंदन के एंटिक स्टोर में मिली थी। कार्टियर कम्पनी ने इन चेन्स को खरीदा और इस नैकलेस को दोबारा से बनाना शुरू किया। हालांकि, इस बार हीरे को रिप्लेस करने के लिए सफायर और टोपाज का इस्तेमाल किया गया। लेकिन यह एक्सपेरिमेंट फेल रहा। आखिरी बार इस नैकलेस को कैप्टन अमरिंदर सिंह के पिता महाराज यादविंदर सिंह ने पहना था। अब एक बार फिर दुनिया के सातवां सबसे बड़ा हीरे को लेकर माहौल गरमा गया है।

 

Related News