27 MAYWEDNESDAY2020 3:11:43 PM
Nari

सास नहीं नीता बनी बहुओं की मां, बेटी ईशा जैसा ही देती हैं प्यार

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 10 May, 2020 11:27 AM
सास नहीं नीता बनी बहुओं की मां, बेटी ईशा जैसा ही देती हैं प्यार

देश के सबसे अमीर बिजनेसमेन मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी का लाइफस्टाइल और विनम्र नेचर दोनों ही लोगों को खूब पसंद हैं। हालांकि वह शादी से पहले एक साधारण लाइफ जी रही थी जिसमें वह करीब 800 रुपए महीने पर स्कूल बतौर टीचर पढ़ाती थी लेकिन शादी के बाद उनकी लाइफ बिलकुल बदल गई जो नहीं बदला वो था उनका स्वभाव । वह पहले भी वैसा था और आज भी वैसा। इस बात का अंदाजा आप इस बात से लगा सकती हैं कि वह बेटी ईशा अंबानी की तरह अपनी दोनों बहुओं से प्यार करती हैं। श्लोका मेहता जो उनके बड़े बेटे आकाश अंबानी के पत्नी हैं वहीं राधिका मर्चेंट जो अभी उनके घर की छोटी बहू बनी तो नहीं है लेकिन खबरों की मानें तो जल्दी बनेंगी। 

 PunjabKesari
जिस तरह नीता अपनी बेटी ईशा अंबानी को प्यार करती हैं वैसे ही अपनापन और सहयोग वह अपनी दोनों बहुओं को भी देती हैं। बहुत सारे इवेंट्स में वह अपनी बहुओं के साथ नजर आ चुकी हैं। आज के जमाने में कहते हैं कि सास बहु की ज्यादा नहीं जमती तो वहीं यह उदाहरण आप देखकर समझ ही गए होगे कि सास अगर मां जैसे अपनापन दिखाए और बहुए सास को मां ही समझे तो घर को स्वर्ग बनते देर नहीं लगती। वहीं नीता अंबानी एक अच्छी मां व सास ही नहीं बल्कि एक परफेक्ट बहुं भी हैं अपनी कोकिलाबेन की उन्होंने पूरे मन से सेवा की।

इसके अलावा नीता अंबानी कई एनजीओ भी चलाती हैं जिसमें वह कई अनाथ बच्चों को गोद लेकर पा रही हैं उन्होंने अच्छी परवरिश व शिक्षा दिला रही हैं। दोस्तों अपने बच्चों पर ममता बरसाना आसान है लेकिन जो दूसरे के बच्चे पर भी वैसी ही ममता का आंचल औडे वह मां सच में मिसाल है।  मदर्स डे के मौके पर नारी की ओर नीता अंबानी को प्यार भरा धन्यवाद। 

PunjabKesari

मिडल क्लास फैमिली में नीता को देखकर उनके ससुर इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने वहीं फैसला कर लिया कि उनके घर की बहू वहीं बनेगी। दरअसल, धीरुभाई अंबानी प्रोग्राम में उनका भरतनाट्यम व विन्रम स्वभाव देखकर इंप्रेस हुए थे।

PunjabKesari

नीता का यहीं स्वभाव दूसरी औरतें के लिए भी प्ररेणा बनता है। अगर औरत ही औरत की ताकत बन जाए, एक दूसरे की भावनाओं को समझे तो नारी शक्ति का कोई भी मंजिल पाना कठिन नहीं है। एक दूसरे की हिम्मत बनें।

Related News