02 DECWEDNESDAY2020 6:22:20 AM
Nari

जानिए वास्तु के हिसाब से कौन- सी चीज कहां पर होनी चाहिए?

  • Edited By neetu,
  • Updated: 24 Oct, 2020 12:05 PM
जानिए वास्तु के हिसाब से कौन- सी चीज कहां पर होनी चाहिए?

वास्तु के अनुसार, घर की कुल 8 दिशाएं होती है। साथ ही ये दिशाएं हम पर गहरा प्रभाव पड़ती है। ऐसे में किस दिशा में क्या रखना चाहिए इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए। तभी जीवन सुखमय बीत सकता है। ऐसे में अगर आप वास्तु शास्त्र को मानते हैं तो आज हम आपको घर की इन 8 दिशाओं के साथ इनका महत्व बताते हैं...

PunjabKesari

उत्तर दिशा

घर की उत्तर दिशा का स्वामी धन के देवता कुबेर और बुध देव कहलाते हैं। ऐसे में इस जगह का संबंध घर की माता से होता है। इसके लिए इस दिशा को हमेशा साफ- सुथरा और खाली रखना चाहिए। नहीं तो वास्तुदोष पैदा होने से इससे उन्हें सेहत से जुड़ी परेशानियां हो सकती है। 

दक्षिण दिशा

वास्तु के अनुसार, घर की इस दिशा में काल पुरूष का बाया सीना, किडनी, बाया फेफड़ा और कुंडली का दशम घर आता है। इस दिशा में यम के आधिपत्य और पृथ्वी तत्व की प्रधानता होती है। ऐसे में इस घर की इस दिशा में हमेशा भारी चीजों को रखना शुभ होता है। आप यहां पर ड्राइंग रूम बना सकते हैं। 

PunjabKesari

पूर्व दिशा

घर की पूर्व दिशा सूर्य और इन्द्र देव की मानी जाती है। साथ ही इसे पितृस्थान की प्रतीक मानने से इस जगह पर कोई भारी सामान रखने से बचना चाहिए। ऐसे में इस दिशा को हमेशा खुला रखना ही बेहतर होगा। 

पश्चिम दिशा

घर की इस दिशा के देवता वरूण और ग्रह स्वामी न्याय के देव शनि माने जाते हैं। ऐसे में यहां पर कोई भी चीज रखने से पहले वास्तु का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। 

ईशान कोण

वास्तु के अनुसार, घर के ईशान कोण का संबंध भगवान महादेव से माना जाता है। ऐसे में इस दिशा में मटका, वॉटरटैंक और पूजाघर बनाना सबसे उत्तम माना जाता है। 

आग्नेय कोण 

इस दिशा का स्वामी शुक्र ग्रह माना जाता है। साथ ही यह अग्नि देव और मंगल ग्रह का स्थान कहलाता है। ऐसे में इस जगह पर रसोई या कोई भी इलैक्ट्रॉनिक चीजें रख सकते हैं। 

PunjabKesari

नैऋत्य कोण

वास्तु के अनुसार, घर की यह दिशा राहु व केतु की मानी जाती है। इस दिशा हो हमेशा ऊंचा बनाना चाहिए। साथ ही यहां पर अलमारी, इलैक्ट्रॉनिक चीजें, सोफा, मेज आदि भारी चीजें रखनी चाहिए। 

वायव्य कोण

इसे वायु की दिशा माना जाता है। साथ ही इस कोण का ग्रह स्वामी चंद्र देव कहलाते हैं। इस दिशा को हमेशा प्रकाशमान होना चाहिए। ऐसे में यहां पर खिड़की, दरवाजे बनाना शुभ होता है। आप चाहे तो इस स्थान पर मेहमानों के रहने का कमरा भी बना सकते हैं। 

Related News