06 JUNSATURDAY2020 7:56:56 AM
Nari

घर होगा Corona Free, बदल लें अपनी ये 5 आदतें

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 07 Apr, 2020 05:00 PM
घर होगा Corona Free, बदल लें अपनी ये 5 आदतें

कोरोना ने अपने कहर से पूरी दुनिया में कहर मचा रखा हैं। ऐसे में इससे बचने के लिए सरकार व डॉक्टरों द्वारा सभी को घर पर रहने की सलाह दी जा रही है। इसलिए भारत देश में भी 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है। मगर इस लॉकडाउन पीरियड में घर पर रहने के नियमों का पालन न करने पर घर रहते हुए भी लोग इस वायरस की चपेट में आ सकते हैं। इसलिए इन 5 आदतों को समय रहते सुधार लेने में ही भलाई है। तो चलिए जानते हैं उन आदतों के बारे में...

 

होम डिलीवरी सर्विस

इस लॉकडाउन में घर से बाहर न निकलें की जगह सारा सामान ऑनलाइन मंगवाना बेस्ट ऑप्शन है। इसके साथ पैसों के भी हाथों में पकड़ने की जगह ऑनलाइन पेमेंट करना सही है। मगर सामान घर आने पर थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत है। असल में ऑनलाइन सामान आप तक पहुंचने से पहले कई लोगों द्वारा टच किया जाता है। ऐसे में डिलीवरी ब्वॉय से सामान लेने के बाद हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं। इसके साथ सामान को 1 दिन अलग जगह रखकर अगले दिन खोले। साथ ही सामान के कवर को कूड़ेदान में ही फेंके। 

PunjabKesari

कपड़े ना बदलना

लॉकडाउन के समय में लोग अपनी आवश्यकताओं का सामान लेने दुकान या सुपरमार्किट में जा रहें हैं। मगर कुछ लोग बाहर से घर कपड़े नहीं बदलते जो कि गलत है। इससे संक्रमण होने का खतरा बढ़ता है। ऐसे में बाहर से घर आकर हाथ- मुंह धोने के साथ कपड़े जरूर बदलें। इसके साथ ही इन कपड़ों को अलग से और हो सके तो डेटॉल से धोएं।

घर के किसी सदस्य में लक्षण दिखने पर अनदेखी 

रिसर्च के अनुसार चीन में इस वायरस के लक्षण घर मौजूद सदस्यों में ही पाएं गए। ऐसे में अगर कहीं आपको घर के किसी सदस्य में कोरोना के लक्षण दिखाई दें तो तुरंत उससे दूरी बना लें ‌ इसके साथ ही यह संक्रमण दूसरों पर न फैले इसके लिए मरीज को अलग कमरे में आइसोलेट करें।

PunjabKesari

फोन को साफ न करना

घर पर रहने के कारण लोग अपना ज्यादा से ज्यादा समय फोन यूज कर बीता रहें हैं। ऐसे में हाथ धोने के साथ फोन को सैनिटाइजर से साफ करना भी जरूरी है। असल में फोन पर वायरस चिपके होने पर संक्रमण का खतरा ज्यादा रहता है। इसलिए अपने फोन को समय-समय पर साफ करने की आदत डाल लें।

पड़ोसियों से मिलना

असल में सोशल डिस्टेंसिंग का सही मतलब है सभी से दूरी बना कर रहना। ऐसे में इस लॉकडाउन में घर पर पड़ोसियों या दोस्तों को बुलाने का मतलब वायरस को न्योता देना होगा। क्योंकि यह वायरस लोगों से मिलने, उनके संपर्क में आने से फैलता है। ऐसे में लोगों के घरों पर जाने और उन्हें अपने घर पर बुलाने से बचें। हां अगर आप चाहें तो अपनी बालकनी या छतों से एक- दूसरे से बात कर टाइम पास कर सकते हैं।

PunjabKesari

Related News