28 SEPTUESDAY2021 12:34:09 AM
Nari

क्या प्रेगनेंसी में तिल खाने से हो सकता है Miscarriage? जानिए एक्सपर्ट का राय

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 07 Sep, 2021 02:08 PM
क्या प्रेगनेंसी में तिल खाने से हो सकता है Miscarriage? जानिए एक्सपर्ट का राय

प्रेगनेंसी में दौरान महिलाओं को खानपान पर ध्यान देने की खास जरूरत होती है क्योंकि उनके द्वारा खाई गई चीजों का असर भ्रूण में पल रहे शिशु पर भी पड़ता है। प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को तिल से परहेज रखने की सलाह दी जाती है क्योंकि कहा जाता है कि इससे गर्भपात का रिस्क बढ़ जाता है। मगर, क्या यह वाकई प्रेगनेंसी में काले, सफेद या पीले तिल खाने से मिसकैरेज हो सकता है। चलिए जानते हैं इसपर एक्सपर्ट की क्या राय है।

क्या प्रगनेंसी में खा सकते हैं तिल?

दरअसल, तिल की तासीर गर्म होती है। ऐसे में कुछ महिलाओं को लगता है कि तिल की गर्मी बच्चे के लिए खतरनाक हो सकती है। मगर, एक्सपर्ट की मानें तो प्रेगनेंसी में तिल खाने से शिशु को कोई नुकसान नहीं होता, बस इसकी मात्रा सीमित रखनी चाहिए।

PunjabKesari

प्रेगनेंसी में कितनी और कैसे खाना चाहिए तिल?

एक्सपर्ट की मानें तो गर्भवती महिला एक दिन में 2 चम्मच यानि करीब 20 ग्राम तिल खा सकती है। आप इसे सब्जियों को गार्निश करने के लिए इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके अलावा प्रेग्नेंट वुमन तिल के लड्डू, चिक्की, डेजर्ट, चटनी बनाकर खा सकते हैं। इसके अलावा चावल, ब्रेड, रोटी पर भी तिल का यूज होता है। भोजन पकाने के लिए आप तिल के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं।

तिलों की न्यूट्रीशनल वैल्यू

100 ग्राम तिल में 989 मि.ग्रा. कैल्शियम. 14.8 मि.ग्रा आयरन होता है। गर्भवती महिलाओं को एक दिन में  1000mg कैल्शियम और 27mg आयरन चाहिए होता है। इसके अलावा तिल में फोलिक एसिड, मैग्नेशियम, फाइबर, पोटेशियम, विटामिन सी, ओलिक एसिड, प्रोटीन और अमीनो एसिड होता है।

PunjabKesari

चलिए अब आपको बताते हैं कि प्रेगनेंसी में तिल खाने से सेहत को क्या-क्या फायदे मिलते हैं...

. प्रेगनेंसी में अक्सर महिलाओं को एनीमिया की शिकायत हो जाती है लेकिन तिल का सेवन शरीर में खून की कमी को पूरा करता है। स
. तिल का सेवन थकावट, कमजोरी, अनिद्रा की समस्या को दूर करने में भी मदद करता है।
. इसमें फाइबर होता है, जिससे कब्ज की समस्या दूर रहती है और पाचन क्रिया सही से काम करती है।
. कैल्शियम से भरपूर होने के कारण इससे गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों व मस्तिष्क का विकास सही तरीके से होता है।

होते हैं कुछ नुकसान भी

. चूंकि हर चीज के फायदे के साथ नुकसान भी होते हैं इसलिए इसका सेवन लिमिट में करना चाहिए।
. अधिक मात्रा में इसका सेवन पेट में गैस, ऐंठन, मरोड़, दस्त का कारण बन सकता है।
. यह एक एलर्जी खाद्य पदार्थ है इसलिए यह ज्यादातर महिलाओं के लिए हानिकारक हो सकता है। वहीं, आपको पहले से ही एलर्जी है तो भूलकर भी तिल का सेवन ना करें।

PunjabKesari

Related News