30 OCTFRIDAY2020 2:03:01 PM
Life Style

एक्ट्रेस बनने से पहले न्यूज रीडर थीं स्मिता, मरने से पहले यह जताई थी आखिरी इच्छा

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 17 Oct, 2020 06:28 PM
एक्ट्रेस बनने से पहले न्यूज रीडर थीं स्मिता, मरने से पहले यह जताई थी आखिरी इच्छा

गुजरे जमाने की ऐसी कई एक्ट्रेस रही जिनका स्टारडम अच्छे-अच्छों को घबराहट में डाल देता था, उन्हीं एक्ट्रेस में से एक थी स्मिता पाटिल जिन्होंने ना सिर्फ अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया बल्कि अपने बिंदास अंदाज से सभी के दिलों में खास जगह बना ली थी। मगर अफसोस उनका फिल्मी सफऱ इतना लंबा नहीं रहा और वो छोटी उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह गई। मगर इस छोटे से फिल्मी करियर में भी उन्होंने एक सफल अभिनेत्री की पहचान जरूर बनाई। चलिए जनाते है एक्ट्रेस की जिंदगी से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें...

इस वजह से पैंट के ऊपर ही पहनी लेती थी साड़ी

PunjabKesari
17 अक्टूबर 1956 को पुणे में जन्मीं स्मिता पाटिल के पिता शिवाजी पाटिल एक राजनैतिक में थे और मां विद्या ताई पाटिल एक समाज सेविका थी। बचपन से ही स्मिता काफी शरारती हुआ करती थी। स्कूल से वापिस लौटते समय अक्सर लड़कों को 'ए हलकट' कहकर चिढ़ाया करती थी। शायद इसी सेल्फ़ कॉन्फिडेंट की वजह से स्मिता 14 साल की उम्र में एम्बैसेडर ड्राइव करने लगी थी, इतना ही नहीं, अपने दोस्तों में सबसे पहले स्मिता ने ही हॉट पैंट पहनने शुरूआत की थी। स्मिता ने अपने करियर की शुरूआत दूरदर्शन पर बतौर न्यूजरीडर की थीं। कहा जाता है कि इस समाचार को पढ़ने के लिए साड़ी पहनना जरूरी होता था, मगर स्मिता को जींस पहनना अच्छा लगता था, इसलिए वो अक्सर न्यूपेपर पढ़ने से पहले जींस के ऊपर ही साड़ी लपेट लिया करती थी जिसे देखकर हर कोई हैरान रहा जाता था। इसके अलावा वो अच्छी फोटोग्राफर भी थी। एंकरिंग करते-करते ही स्मिता को डायरेक्टर श्याम बेनेगल ने अपनी फिल्म 'चरणदास चोर' के लिए साइन कर लिया। करीब 10 साल में स्मिता हिंदी सिनेमा का एक बड़ा नाम बन गई, इस बीच स्मिता ने कई सुपरस्टार के साथ काम किया, जिनमें से एक अमिताभ बच्चन भी रहे।

PunjabKesari

अमिताभ के लिए देखा सपना हुआ था सच


अमिताभ के साथ उनका एक किस्सा खूब चर्चा में रहा था जब 1 दिन रात अचानक स्मिता पाटिल ने अमिताभ बच्चन को फोन लगाया और अमिताभ से कहा- मैंने सपने में देखा कि आपको चोट लगी है, आप ठीक तो है, अमिताभ ने स्मिता से कहा कि हां मैं बिल्कुल ठीक हूं, लेकिन अगले दिन ही फिल्म कुली के सेट पर अमिताभ के साथ गंभीर हादसा हुआ जिस वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ गया था।एक्टिंग के अलावा स्मिता मां की तरह एक समाज सेविका भी थी। वो कई महिला संस्थाओं से भी जुड़ी थीं, खासकर स्मिता मध्यमवर्गीय महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करती थीं...जब स्मिता को फिल्म भूमिका के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला तो उसकी इनामी राशि भी उन्होंने नारी सशक्तिकरण के लिए दान कर दी थी।


शादीशुदा राज बब्बर से रचाई गुपचुप शादी

बात पर्सनल लाइफ की करें तो स्मिता शादीशुदा राज बब्बर के साथ अपने रिलेशनशिप को लेकर खूब सुर्खियों में रही। स्मिता के प्यार में राज इस कदर पागल हो गए थे कि बीवी को छोड़ स्मिता के साथ लिव इन रिलेशन में रहने लगे थे। कुछ साल बाद उन्होंने बीवी को बिना तलाक दिए स्मिता से गुपचुप शादी कर ली। इस दौरान स्मिता ने ना सिर्फ घर तोड़ने वाली औरत के ताने सुने बल्कि इस वजह से उनके मां से रिश्ते भी हमेशा के लिए खराब होते चले गए। दरअसल, स्मिता की मां नहीं चाहती थी कि स्मिता राज बब्बर के साथ रहें, क्योंकि राज बब्बर पहले से ही शादीशुदा थे... स्मिता की मां का यही कहना था कि जो स्मिता महिलाओं के अधिकार के लिए हमेशा से लड़ती आई है, भला वो कैसे किसी का घर तुड़वा सकती है, मगर कहते है ना कि प्यार के आगे किसी का जोर नहीं चलता, इसमें सही और गलत का फर्क भी समझ नहीं आता तो यहीं स्मिता के साथ भी हुआ...स्मिता ने मां की मर्जी के खिलाफ जाकर राज बब्बर से शादी तो कर ली लेकिन शादी के बाद जब उन्होंने बेटे को प्रतीक को जन्म दिया तो 31 साल की उम्र में चाइल्डबर्थ कॉम्प्लिकेशंस के चलते उनकी हालात भी सीरियस हो गई। बेटे को जन्म देने के करीब 15 दिन बाद ही स्मिता की डेथ हो गई।

PunjabKesari

मरने से पहले जताई थी आखिरी इच्छा 


स्मिता पहली वो एक्ट्रेस थी जिसकी मौत के बाद उनकी करीब 14 फिल्में रिलीज हुई थी। इसके अलावा मरने से पहले उन्होंने एक इच्छा भी जताई थी क्योंकि माना जाता है कि स्मिता को पहले ही इस बात का आभास हो चुका था कि अब वो कुछ दिनों ही मेहमान है। दरअसल, स्मिता पहले ही कहने लगी थीं कि जब भी मैं मर जाऊं तो मुझे सुहागिनों की तरह सजाना और ऐसा ही हुआ। मगर आप स्मिता की इस इच्छा की पीछे की कहानी जानते हैं। दरअसल एक बार स्मिता ने एक्टर राजकुमार को लेटकर मेकअप कराते हुए देखा था, तभी उन्होंने अपने मेकअप आर्टिस्ट को भी ऐसे ही मेकअप करने को कहा था, तब मेकअप आर्टिस्ट ने यह कहकर मना कर दिया था कि मुझे ऐसा लगेगा कि मैं किसी मुर्दे का मेकअप कर रहा हूं। मगर जब वो सच में मर गई तो मेकअप आर्टिस्ट ने उनकी अंतिम इच्छा का सम्मान करते हुए उनका दुल्हनों की तरह मेकअप किया था।

स्मिता तो दुनिया से चली गई लेकिन पीछे अपना मासूम सा नन्हा सा बच्चा राज बब्बर के पास छोड़ गई। राज बब्बर ने बेटे को मां का प्यार देना चाहते थे और उन्होंने अपनी पहली बीवी के पास जाने का फैसला किया। पहली बीवी ने भी उन्हें खुशी-खुशी अपना लिया। 

 

 

Related News