01 MARMONDAY2021 6:29:51 AM
Nari

गोवर्धन पूजा पर लोग क्यों खाते हैं कढ़ी-चावल? कान्हा से जुड़ा कनैक्शन

  • Edited By Bhawna sharma,
  • Updated: 11 Nov, 2020 05:42 PM
गोवर्धन पूजा पर लोग क्यों खाते हैं कढ़ी-चावल? कान्हा से जुड़ा कनैक्शन

त्योहारों का सीजन शुरू हो चुका है। इस दौरान लोग न सिर्फ एक-दूसरे के साथ खुशियां बांटते हैं बल्कि खूब मिठाइयां व स्वादिष्ट पकवान भी खाते हैं। भारत देश में हर त्योहार का संबंध मौसम और खाने के साथ होता है। हर त्योहार पर खाने के लिए कुछ न कुछ स्पैशल जरूर बनाया जाता है। जैसे दशहरे पर जलेबियां, करवाचौथ पर फेनियां और मट्ठियां। वहीं एक ऐसा व्यंजन भी है जो लोग दिवाली के एक दिन बाद खाते हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं कढ़ी-चावल की जो लोगों को काफी पसंद है। इसका महत्व गोवर्धन पूजा से जुड़ा हुआ है। तो चलिए आपको बताते हैं कैसे...

PunjabKesari

जानिए कढ़ी-चावल खाने का महत्व

दिवाली के अगले दिन गोवर्धन पूजा का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन लोग गाय और प्रकृति की पूजा करते हैं और भगवान को कढ़ी-चावल का भोग लगाते हैं। गोवर्धन पूजा पर कढ़ी-चावल का खाने के दो महत्व है। 

- पहला महत्व यह है कि द्वापर युग में गोकुल वासियों को बचाने के लिए भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत उठाया था। इसके साथ ही भगवान श्रीकृष्ण ने गौवंश और प्रकृति के महत्व के बारे में लोगों को बताया था। इसलिए गोवर्धन पूजा पर दूध की छाछ से बनी कढ़ी और चावल का भोग लगाया जाता है। 

- वहीं दूसरे महत्व की बात करें तो कढ़ी-चावल का सेवन स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक माना जाता है। भगवान को भोग लगाने के बाद स्वास्थ्य की कामना करते हुए पूरा परिवार कढ़ी-चावल का सेवन करता है। 

PunjabKesari

कढ़ी-चावल खाने से मिलेंगे ये फायदे

- कढ़ी दूध से बनी छाछ से तैयार की जाती है। जो कई तरह के स्वास्थ्य वर्धक तत्व से भरपूर होती है। इसके साथ ही कढ़ी में प्रोटीन, कैल्शियम और फास्फोरस अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। 

- इस खास दिन पर कढ़ी को लोहे की कढ़ाई में बनाया जाता है। लोहे की कढ़ाही में बनाए जाने की वजह से कढ़ी में आयरन भरपूर मात्रा पाई जाती है। 

- ऐंटिइंफ्लामेट्री गुण से भरपूर कढ़ी शरीर के कई रोगों को जड़ से खत्म करने में मददगार साबित होती है। इसके अलावा यह शरीर में अंदरूनी सूजन को भी बढ़ने से रोकती है। 

PunjabKesari

- पेट के कई संक्रमणों को कढ़ी दूर करती है। इसके अलावा कढ़ी खाने से मुंह में छाले होने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। 

- वहीं चावल में स्टार्च होता है जबकि कढ़ी रोगों से बचाती है। कढ़ी-चावल का मेल आंतों को सही बनाए रखता है।

Related News