27 MAYWEDNESDAY2020 3:43:24 PM
Nari

Unicef की पहल, बच्चों में कोरोना का 'डर' भगाने के दिए टिप्स

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 03 Apr, 2020 02:19 PM
Unicef की पहल, बच्चों में कोरोना का 'डर' भगाने के दिए टिप्स

कोरोना वायरस सिर्फ बड़ों ही नहीं बल्कि बच्चों का भी 'हॉट टॉपिक' बन चुका है। लॉकडाउन को लेकर बच्चों के मन में काफी क्रियोसिटी है, जिसे लेकर वो अपने पेरेंट्स से कई तरह के सवाल कर रहे हैं। भले ही आप बच्चों को सही जानकारी देते हो लेकिन कहीं ना कहीं से उन तक अफवाहें भी पहुंच रही हैं, जिससे उनके मन में डर व चिंता का माहौल बना हुआ है। ऐसे में यह पेरेंट्स की जिम्मेदारी है कि उन्हें इस बारे में बिठाकर सही से समझाएं।

वहीं Unicef India ने इन दिनों ऑनलाइन कैंपेन के जरिए बच्चों को कोरोना वायरस के बारे में जागरूक करने की जिम्मेदारी उठाई है। यूनिसेफ के एक्सपर्ट्स ने कुछ टिप्स दिए हैं, जिससे आप बच्चों के मन से डर व चिंता निकाल सकते हैं।

बच्चों से पूछे कि वो वायरस के बारे में क्या जानते हैं

सबसे पहले बच्चों से पूछें कि वो इस वायरस क बारे में क्या-क्या जानते हैं। अगर बच्चे के पास इस वायरस को लेकर गलत जानकारी है तो उसे सही करें। उन्हें वो सभी जरूरी बातें बताएं, जो उन्हें पता नहीं है लेकिन बच्चों को उसकी जानकारी होना बहुत जरूर है।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

The #coronavirus outbreak can be an anxious and uncertain time for children. Here are some simple steps to help them cope.

A post shared by UNICEFIndia (@unicefindia) on Mar 28, 2020 at 11:23pm PDT

हाइजीन की जरूरत समझाएं

कोरोना से बचने के लिए हाइजीन का ध्यान रखना बहुत जरूरी है इसलिए उन्हें इसकी अहमियत समझाएं।
. उन्हें बताएं कि किसी से हाथ ना मिलाएं
. बाहर से घर आने के बाद हाथों को अच्छी तरह से धोएं।
. कुछ भी खाने-पीने से पहले हाथों को अच्छी तरह से धोएं।
. जमीन पर पड़ी चीजों को ना उठाएं।
. टॉयलेट सीट को क्यों नहीं छूना चाहिए।
. मुंह, नाक व आंखों को बार-बार ना छूएं।
. बच्चों के खिलौनों की भी अच्छी तरह से सफाई करें।
. इसके अलावा खांसने, छींकने, हाथ धोने और सोशल डिस्टेंस बनाने का तरीका बताएं।

PunjabKesari

गलत जानकारी न दें, न ही डराएं

बच्चे घर में बैठे-बैठे बोर हो जाते हैं। ऐसे में अगर वो बाहर जाने के लिए जिद्द करें तो उन्हें डराने की बजाए प्यार से समझाएं कि इस वक्त वो बाहर क्यों नहीं जा सकते। इससे बच्चे के मन में डर बैठ सकता है। ऐसे में वो लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी बाहर जाने से डरेंगे।

टी.वी., रेडियो या इंटरनेट यूज पर रखें नजर

अगर बच्चे टी.वी या इंटरनेट यूज कर रहे हैं तो इस बात का ख्याल रखें कि वो अफवाहों से जुड़ी कोई भी चीज ना देखें। इससे उन्हें गलत जानकारी मिल सकती है क्योंकि इन दिनोंं कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर काफी सारी अफवाहें फैलाई जा रही हैं। वहीं टी.वी पर भी कोरोना से जुड़ी जानकारी ही दी जा रही है, जो उनके मन में डर का माहौल बना सकती है।

बच्चों को बताएं कि वो सुरक्षित हैं

सबसे जरूरी बात अपने बच्चोंं को बताए कि वो बिल्कुल सुरक्षित हैं, ताकि वो असहज महसूस ना करें। बच्चोंं के मन में उठे सवालों का जवाब दें लेकिन उनके मन में डर ना बैठाएं।

PunjabKesari

पेरेंट्स को सावधान रहने की जरूरत है। बच्चों को कोरोना वायरस से संबंधित सभी जानकारी के लिए सरकारी बेवसाइट्स, Unicef.org या फिर World Health Organization की वेबसाइट चेक करें।

Related News