17 JUNMONDAY2019 8:26:16 PM
Nari

सोने-चांदी से ज्यादा डिमांडी हुई 'टेराकोटा' ज्वेलरी, मिट्टी से बनते हैं ये Eco-Friendly गहने

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 07 Jun, 2019 01:28 PM
सोने-चांदी से ज्यादा डिमांडी हुई 'टेराकोटा' ज्वेलरी, मिट्टी से बनते हैं ये Eco-Friendly गहने

टेराकोटा ज्वेलरी सोना, चांदी, डायमंड ज्वेलरी की तरह रॉयल ज्वेलरी की ही केटेगिरी में शामिल होती हैं। जिस तरह से हम किसी किमती चीज को संभाल कर रखते है उसी तरह हमें इन्हें भी संभाल कर रखना पड़ता हैं। टेराकोटा ज्वेलरी सुनने में जितनी अच्छी लगती है उतनी ही देखने में अच्छी लगती हैं, जिसे मिट्टी को बेक कर बनाया जाता हैं। मिट्टी को हाथ व अलग अलग औजारों की मदद से बहुत ही सुंदर डिजाइन दिए जाते हैं। इस ज्वेलरी में उपलब्ध सभी डिजाइन किसी न किसी संस्कृति व कल्चर से इंस्पायर्ड होते हैं। 

PunjabKesari

इको-फ्रेंडली ज्वेलरी

टेराकोटा ज्वेलरी यानि की भूरी मिट्टी, पक्की हुई मिट्टी या बेकड मिट्टी। पहले मिट्टी को भूना जाता है उसके बाद ही टेराकोट ज्वेलरी बनाई जाती हैं। यह ज्वेलरी जितनी पहनने के लिए ट्रेंडी रहती है उतनी ही यह इको फ्रेंडली भी होती हैं, क्योंकि इसे बनाते समय इसमें किसी भी तरह का कैमिकल इस्तेमाल नहीं किया जाता। पहले मिट्टी को बेक कर डिजाइन देकर सूखा दिया जाता हैं। उसके बाद इन पर नेचुरल कलर किया जाता हैं जोकि हमारी स्किन के लिए काफी अच्छा होता है। 

PunjabKesari

टेराकोटा ज्वेलरी के डिजाइन्स 

PunjabKesari

पीकॉक डिजाइन 

PunjabKesari

ट्राइबल स्टाइल 

PunjabKesari

एंटीक डिजाइन 

PunjabKesari

कत्थकली डिजाइन 

PunjabKesari

विद सिल्क डिजाइन 

PunjabKesari

टेंबल स्टाइल ज्वेलरी 

PunjabKesari

फ्लोरल स्टाइल ज्वेलरी 

PunjabKesari
सुरक्षित रखने के टिप्स
1. नहाते, स्विमिंग करते हुए ज्यूलरी को उतार दें। 
2. यह कांच तो नहीं होते है लेकिन फिर भी इन्हें संभाल कर रखना पड़ता हैं। 
3. पहनने के बाद इसे हमेशा नर्म व साफ कपड़े के पोंछ कर रखें। 
4. इन पर कभी भी किसी तरह का भार न रखें यह टूट सकते है या मूड़ सकते हैं। 
5. इसे परफ्यूम या हेयर स्प्रे से बचा कर रखें।

 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad