02 DECWEDNESDAY2020 5:45:28 AM
Nari

दुल्हन को मुफ्त वैडिंग ड्रेस देती हैं यह महिला, 8 साल पहले की नेक काम की शुरुआत

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 20 Oct, 2020 05:34 PM
दुल्हन को मुफ्त वैडिंग ड्रेस देती हैं यह महिला, 8 साल पहले की नेक काम की शुरुआत

कहते हैं इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं होता है। लोगों के लिए हमेशा खड़े रहना और उनकी मदद करने से आप कभी छोटे नहीं होते। एक ऐसी ही इंसानियत की मिसाल पेश की है 41 वर्षीय सबिता ने जो लड़कियों की मदद के लिए आगे आई है। 

PunjabKesari

दरअसल सबिता दुल्हनों को फ्री में ब्राइडल ड्रेस देती हैं। इतना ही नहीं वह साथ में फ्री एसेसरीज भी देती हैं। इस नेक कदम को उठाने का मकसद सिर्फ इतना है कि शादी में किसी भी दुल्हन को कमी न हो। 

फ्री में देती है वेडिंग ड्रेस 

दरअसल एक बार सबिता को एक लड़की का फोन आया जिसने अपनी शादी के लिए सबिता से कपड़ों की मदद मांगी। सबिता ने बिना देरी किए उस लड़की की मदद की और उसे ड्रेस के साथ साथ पहनने के लिए एक्सेसरीज भी दी। इसी नेक सोच के साथ सबिता ने मदद की एक प्यारी सी शुरूआत की। सबिता की मानें तो वह फ्री में शादी की ड्रेसिस देती हैं ताकि उन जरूरतमंद लड़कियों का डिजाइनर कपड़े पहनने का सपना पूरे हो सके। 

इस मदद में साथ जुड़ रहे लोग

सबिता ने इस मदद के लिए अन्य लोगों को भी जागरूक करना शुरू किया और इस नेक काम में सबिता के साथ साथ बहुत से लोग और जुड़ते गए।  मुंबई, एर्नाकुलम, कोची से लेकर विदेशों तक यानि दुबई, अमेरिकी से भी महिलाओं ने अपनी वेडिंग ड्रेस भिजवाई ताकि वह इस मदद में हाथ आगे बढ़ा सके। 

खोली है बुटीक 

PunjabKesari

सबिता ने इन ड्रेसिस को रखने के लिए केरल के कुन्नूर में अपनी एक बुटीक भी खोली है। इतना ही नहीं कईं बार तो महिलाएं अपनी मंहगी से मंहगी ड्रेस भी मदद के लिए भेजती हैं। 

फ्री मेकअप अरेंजमेंट भी किए हैं

सबिता द्वारा खोली बुटीक में दुल्हनों के लिए लंहगों से लेकर फुटवियर्स, ज्वेलरी, बेडशीट्स और मेकअप सेट्स भी हैं इतना ही नहीं बुटीक में सब्यसाची और रितु कुमार द्वारा डिजाइन किए गए कपड़े भी हैं। दुल्हनों के दिन को और खास बनाने के लिए सबिता फ्री में मेकअप अरैंजमेंट भी करती हैं। 

हम सबिता के इस नेक काम को सलाम करते हैं। देखा जाए तो लड़िकयां शादी के लिए जो ड्रेस बनवाती हैं फिर शादी के बाद वो ड्रेस किसी भी फंक्शन में काम नहीं आती है। ऐसे में अगर उन कपड़ों से किसी की मदद होती है और किसी के चेहरे पर खुशी आती है तो उस मदद से पीछे नहीं हटना चाहिए। 

Related News