01 MARMONDAY2021 8:03:08 AM
Nari

सर्दियों में कोरोना वायरस का अधिक खतरा, 6 फीट की दूरी भी नहीं आएगी काम

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 27 Oct, 2020 09:18 AM
सर्दियों में कोरोना वायरस का अधिक खतरा, 6 फीट की दूरी भी नहीं आएगी काम

सितंबर महीने के बाद से भारत में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं, जिसकी वजह से लोग इसे हल्के में ले रहे हैं। मगर, वैज्ञानिकों का अनुमान है कि सर्दियों कोरोना फिर से कहर बरपा सकता है। वहीं, दिल्ली समेत भारत की कई जगहों पर मरीजों को दोबोरा कोरोना संक्रमण होने के मामले सामन आए हैं।

सर्दी में काफी नहीं 6 फीट की दूरी

अमेरिका में हुए एक शोध का कहना है कि सर्दियों में कोरोना वायरस से बचने के लिए 6 फीट की दूसरी काफी नहीं है। कोरोना के ड्राप्लेट्स 18 फीट की दूसरी तक जा सकते हैं। यही वजह है कि सर्दियों में इसका खतरा बढ़ने की संभावना अधिक है।

PunjabKesari

बूंदें फैलाती हैं वायरस

बता दें कि कोरोना वायरस मुंह से निकलने वाली छोटी-छोटी बूदें यानि ड्रॉपलेट्स (एरोसोल्स) के जरिए एक व्यक्ति से दूसरे तक फैलता है। गर्मी में ये बूंदें जल्दी वाष्पित हो जाती है लेकिन सर्दी में नमी के कारण बूंदें जल्दी वाष्पित नहीं होंगी इसलिए इसका खतरा भी ज्यादा है। सांस, छींक या खांसते समय संक्रमित इंसान के मुंह-नाक से निकले ये ड्राप्लेट्स सांस के जरिए व्यक्ति को इंफेक्ट कर सकते हैं।

अलग स्ट्रेन से भी कोरोना का खतरा

कोरोना के कई तरह के स्ट्रेन है और भारत में इसके तीन स्ट्रेन मिले हैं। ऐसे में वैज्ञानिकों का कहना है कि तीनों तरह के स्ट्रेस से कोरोना की आशंका हो सकती है। डेंगू में भी ऐसा ही होता है यानि अगर किसी को एक तरह का डेंगू हुआ हो तो दूसरी बार उसे अलग तरह का डेंगू होगा।

PunjabKesari

री-इंफेक्शन होने पर लक्षण होंगे गंभीर

भारत में कोरोना के कई री-इंफेक्शन के मामले सामने आए हैं, जिसके लक्षण काफी गंभीर थे। पहली बार गले में खराश, सांस लेने में तकलीफ, बुखार, छीकें आना जैसे लक्षण थे जबकि दूसरी बार मरीज को वेंटीलेटर की नौबत आ गई थी। वहीं, रिकवरी के बाद भी मरीजों को ठीक होने में काफी समय लग रहा है।

ब्लड ग्रुप A में गंभीरता ज्यादा और O में कम

शोध के मुताबिक, कोरोना की गंभीरता काफी हद तक ब्लड ग्रुप पर भी निर्भर करती है। A ब्लड ग्रुप वाले कोरोना मरीजों को इसका खतरा ज्यादा है। वहीं, O ब्लड ग्रुप वाले मरीजों में कोरोना के लक्षण काफी हल्के थे।

ना बरतें लापरवाही

. घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनकर रखें
. हाथ-मुंह अच्छी तरह धोएं। सर्दियों में आप इसके लिए गुनगुने पानी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
. ठंडे और नम कमरों में सोशल डिस्टेंसिंग ज्यादा बनाकर रखें।
. हाथ ना मिलाने जैसे नियमों का भी पालन करें।
. दिनभर में गुनगुना पानी पीते रहें, ताकि सर्दी-जुकाम ना हो। इससे इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है, जिससे कोरोना का खतरा भी बढ़ जाता है।
. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में हैल्दी चीजें लेते रहें।

PunjabKesari

Related News