08 AUGMONDAY2022 10:41:28 PM
Nari

गर्भावस्था में सैर करने के कई फायदे, मगर इन बातों का ध्यान रखना जरूरी

  • Edited By neetu,
  • Updated: 25 Jul, 2021 03:36 PM
गर्भावस्था में सैर करने के कई फायदे, मगर इन बातों का ध्यान रखना जरूरी

गर्भावस्था में सेहत का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। इसके लिए पौष्टिक आहार के साथ फिजिकल एक्टिविटी करना भी जरूरी होता है। ताकि शरीर में पोषक तत्वों के साथ एनर्जी बनी रहे। वैसे तो इस दौरान वर्कआउट करने से बचना चाहिए। मगर शरीर को हैल्दी रखने के लिए वॉक करना बेस्ट माना जाता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, गर्भावस्था में रोजाना 30-40 मिनट कर सैर करना फायदेमंद होता है। मगर इसके लिए कुछ सावधानियां बरतने की भी जरूरत होती है। 

चलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में प्रेगनेंसी में वॉक करने के फायदे और सावधानियां के बारे में बताते हैं...

 

दिल रहे स्वस्थ 

इस दौरान सैर करना बेस्ट कार्डियोवस्‍कुलर एक्‍सरसाइज माना जाता है। इससे दिल बेहतर तरीके से काम करता है। ऐसे में बीमारियों से बचाव रहने के साथ बेहतर शारीरिक विकास में मदद मिलती है। 

मजबूत मांसपेशियां 

सैर करने से मांसपेशियों में मजबूती आती है। साथ ही गर्भावस्था में पेट बढ़ने के कारण होने वाली असहजता व पैरों में दर्द की परेशानी कम होती है। 

PunjabKesari

जेस्टेशनल डायबिटीज का खतरा कम 

प्रेगनेंसी में अक्सर महिलाओं के खून में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है। इसके कारण जेस्‍टेशनल डायबिटीज होने का खतरा रहता है। ऐसे में गर्भ में पल रहे शिशु के विकास में बाधा आ सकती है। मगर इस दौरान पैदल चलने से जेस्‍टेशनल डायबिटीज का खतरा कई गुणा कम हो जाता है। ऐसे में अगर गर्भवती महिला रोज सैर करें तो वे हैल्दी रह सकती है। 

पाचन तंत्र दुरुस्त 

सैर करने से मॉर्निंग सिकनेस दूर होती है। साथ ही पाचन तंत्र मजबूत होने से गैस, कब्ज, अपच, मितली आने की समस्या से बचाव रहता है। 

 

वॉक के दौरान इन बातों का रहे ध्यान

. सैर करने से 30 मिनट पहले हाई प्रोटीन से भरपूर कच्चा पनीर, स्प्राउट्स आदि का सेवन करें।

PunjabKesari

. वॉक के दौरान अच्छी क्वालिटी के जूते पहनें। इस बात का ध्यान रखें कि आपको जूते एकदम फीट हो साथ इसीक जमीन से पकड़ अच्छी हो। 

. अगर आप पार्क में वॉक के लिए जा रहे हैं तो सनस्क्रीन लगाकर जाएं। नहीं तो तेज धूप के संपर्क में आने से स्किन संबंधी समस्याएं हो सकती है। 

. सुबह के समय मौसम अच्छा होता है। इसलिए इस दौरान सैर करने जाएं। साथ ही जरूरत से अधिक वॉक करने से बचें। थकान, कमजोरी या सांस फूलने की समस्या में तुरंत बैठकर आराम करें। 

. रोजाना 20-30 मिनट से अधिक वॉक न करें। 

. तेज चलने से शरीर में कई परेशानियां हो सकती है। इसलिए इसकी जगह पर सिर्फ टहलें। 

. सैर करने अकेले जाने की गलती ना करें। असल में गर्भावस्था में पैर फिसलने का डर रहता है। ऐसे में अपने साथ किसी को साफ लेकर जरूरत जाए। 

.  शरीर में पानी की कमी ना हो इसलिए सैर करने के दौरान पानी साथ लेकर जाए। थोड़े-थोड़े समय के बाद 2-2 घूंट पानी पीते रहिए। इससे शरीर में पानी की मात्रा बराबर रहने के साथ तापमान नहीं बढ़ेगा। 
 

Related News