21 JANTHURSDAY2021 11:24:36 AM
Nari

थाइराइड को जड़ से खत्म करेंगी ये आयुर्वेदिक चीजें, आज ही से शुरू कर दें खाना

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 01 Dec, 2020 03:50 PM
थाइराइड को जड़ से खत्म करेंगी ये आयुर्वेदिक चीजें, आज ही से शुरू कर दें खाना

थायराइड मरीजों की गिनती दिनो-दिन तेजी से बढ़ती जा रही है। पुरूषों की तुलना में महिलाओं को थायरायड होने की आंशंका 9 गुना अधिक होती है, जिसका सबसे बड़ा कारण बिगड़ा लाइफस्टाइल और गलत खान-पान है। हालांकि थायराइड का एक कारण हार्मोंन्स के बिगड़े संतुलन से भी है। अगर थायराइड आऊट ऑफ कंट्रोल हो जाए तो इससे शरीर महिलाओं को कमजोरी, थकान, अनियमित पीरियड्स, डिप्रेशन, सांस फूलना जैसी दिक्कतें शुरू हो जाती है। ऐसे में इसे कंट्रोल करना बहुत जरूरी है। यहां हम आपको कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में बताएंगे, जिनकी मदद से आप थायराइड को कंट्रोल कर सकते हैं। चलिए आपको बताते हैं थायराइड को कंट्रोल करने के लिए आयुर्वेदिक तरीके...

मुलेठी से कंट्रोल करे थायराइड

मुलेठी पाउडर या इसका पानी पीने से थायराइड कंट्रोल रहता है। शोध के अनुसार, मुलेठी में ट्रीटरपेनोइड ग्लाइसेरीथेनिक एसिड होता है, जो थायराइड व कैंसर कोशिकाओं को जड़ से खत्म कर सकता है। साथ ही इससे थायराइड के लक्षण जैसे कमजोरी और थकान भी दूर होती है।

PunjabKesari

थायराइड हार्मोंस को कंट्रोल करेगी अलसी

अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जिससे थायरायड ग्रंथि सही तरीके से काम करती है। हाइपोथायरायडिज्म रोगियों के लिए अलसी का सेवन बहुत फायदेमंद है। वहीं, इसका सेवन पाचन क्रिया और ब्लड शुगर लेवल को भी सही रखता है।

इचिनेसिया खत्म करेगी हाइपोथायरायडिज्म

 एंटीवायरल और एंटीसेप्टिक जैसे औषधीय गुणों से भरपूर इचिनेसिया जड़ी-बूटी हाइपोथायरायडिज्म का काल है। वहीं इससे इम्यून सिस्टम और दिल की मांसपेशियां मजबूत होती है। इससे यूरिन इंफैक्शन की समस्या भी दूर होती है।

PunjabKesari

थायराइड ग्रंथियों की सक्रियता को सुधारेगा अश्वगंधा

एंटीऑक्सीडेंट अश्वगंधा थायराइड ग्रंथियों से निकलने वाले हार्मोन्स को कंट्रोल करने में मदद करता है। साथ ही इससे इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है, जो कोरोना काल में बहुत जरूरी है। आप इसकी गोलियां या पाउडर डाइट में ले सकते हैं।

ब्लैडररैक हर्ब भी है कमाल

ब्लैडररैक (Bladderwrack) एक ऐसा हर्ब है जो हाइपोथायराडिज्म के अलावा कई बीमारियों में फायदेमंद होता है। इस समुद्री शैवाल में नेचुरल आयोडीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो थायराइड ग्रंथि को संतुलित और हार्मोन उत्सर्जन बढ़ाने में मदद करता है।

PunjabKesari

गेहूं का ज्वारा भी बेहद फायदेमंद

गेहूं का ज्वारा थायराइड हार्मोन को कंट्रोल करने के साथ ब्लड और ब्लड रिलेटेड मरीजों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा यह खून की कमी, हाई ब्लड प्रेशर, सर्दी-खांसी, जुकाम -कफ, अस्थमा, साइनस, पेट की बीमारियां को दूर करने में भी मददगार है।

काले अखरोट

सीफूड काला अखरोट आयोडीन का सबसे अच्छा स्रोत है, जिसमें सभी जरूरी पोषक तत्‍व होते हैं। रोजाना इसका सेवन थायराइड ग्रंथि की संतुलित करने के साथ शरीर में अन्य हार्मोन्स को भी कंट्रोल करता है। साथ ही इसका सेवन दिल के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

PunjabKesari

बाकोपा भी है बेहद शक्तिशाली

थायराइड मरीजों को अपनी डाइट में बाकोपा जड़ी बूटी भी जरूर लेना चाहिए क्योंकि इससे भी थायराइड ग्रंथि संतुलित रहती है। साथ ही यह कैंसर से बचाव में भी मददगार है।

PunjabKesari

याद रखें कि सही खान-पान और लाइफस्टाइल से थायराइड को कंट्रोल किया जा सकता है इसलिए इससे घबराने की जरूरत नहीं। हैल्दी डाइट, भरपूर नींद और एक्सरसाइज को रूटीन का हिस्सा बनाकर आप इसे नार्मल बना सकते हैं।

Related News