03 JULSUNDAY2022 1:16:53 AM
Nari

स्वास्थ्य मंत्रालय की नई गाइडलाइन, प्रेग्नेंट औरतों के लिए पूरी तरह सुरक्षित Corona Vaccine

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 02 Jul, 2021 05:30 PM
स्वास्थ्य मंत्रालय की नई गाइडलाइन, प्रेग्नेंट औरतों के लिए पूरी तरह सुरक्षित Corona Vaccine

कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने से पहले कहा जा रहा था कि बच्चों, गर्भवती महिलाओं या किसी बीमारी से ग्रस्त महिलाएं टीका नहीं लगवा सकती। जब कोरोना लहर का बच्चों पर बरसा तब उन्हें वैक्सीन लगवाने की गाइडलाइन जारी कर दी गई। वहीं, अब वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर का असर बच्चों के साथ गर्भवती महिलाओं पर हो सकता है। ऐसे में अब गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन लगवाने की भी अनुमति दे दी गई है। जी हां, राष्ट्रीय टीकाकरण तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) की सिफारिशों के आधार पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेग्नेंट महिलाओं को वैक्सीन लगवाने की मंजूरी दे दी है।

गर्भवती महिलाएं भी लगवा सकती हैं वैक्सीन

दरअसल, केंद्र सरकार ने सभी लोगों को वैक्सीन लगवाने की अपील की है, जिसमें गर्भवती महिलाएं भी शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई गाइडलाइन जारी की है, जिसमें प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए वैक्सीन को पूरी तरह सुरक्षित बताया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, जच्चा-बच्चा की सुरक्षा के लिए सावधानी बरतें और वैक्सीन जरूर लगवाएं।

PunjabKesari

क्यों जरुरी है वैक्सीन?

95% कोरोना पॉजिटिव मांओं के बच्चों का स्वास्थ्य डिलीवरी के बाद बेहतर रहा लेकिन कुछ औरतों में प्री-मैच्योर डिलीवरी की स्थिति बनी रहती है। ऐसे बच्चों का वजन 2.5 कि.ग्रा. से कम हो सकता है और शिशु की जान जाने का भी खतरा रहता है। ऐसे में महिलाओं व नवजात की अच्छी सेहत के लिए वैक्सीन लगवाना जरूरी है।

किन प्रेग्नेंट औरतों को संक्रमण का अधिक खतरा

35 से अधिक उम्र, हाई बीपी, डायबिटीज, मोटापा, अन्य गंभीर बीमारी से ग्रस्त औरतों को संक्रमण का खतरा अधिक रहता है। ऐसे में ये महिलाएं डॉक्टर की सलाह से टीका लगवाएं। टीकाकरण के बाद गर्भवती महिला को हल्का बुखार, इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द हो सकता है लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं।

क्या संक्रमित औरतें लगवा सकती हैं वैक्सीन?

स्वास्थय मंत्रालय ने कहा कि कोरोना संक्रमित होने के बाद 90% महिलाएं घर पर रहकर ठीक हो जाती है। ऐसे में जो महिलाएं ठीक हो चुकी हैं वो टीके के लिए थोड़ा इंतजार करें। डॉक्टर की सलाह से आप वैक्सीन लगवा सकती हैं।

PunjabKesari

डिलीवरी के बाद कब लगवाएं टीका?

एक्सपर्ट के मुताबिक, प्रेग्नेंट महिलाएं प्रसव के बाद किसी भी समय इंजेक्शन लगवा सकती हैं। कोरोना की तीसरी लहर में गर्भवती व ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं को अधिक खतरा है क्योंकि उनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। ऐसे में उनके टीकाकरण पर जोर दिया गया है।

क्या वैक्सीन के बाद करवा सकती हैं ब्रेस्टफीडिंग?

एक्सपर्ट की मानें तो टीका लगवाने के बाद भी औरतें टेंशन फ्री होकर स्तनपान करवा सकती हैं। स्तनपान किसी भी स्थिति में नहीं रोकना चाहिए। गाइडलाइंस में साफ कर दिया गया है कि वैक्सीन से महिला के शिशु पर किसी भी तरह का दुष्प्रभाव नहीं होगा। हालांकि इस दौरान औरतों को मास्क लगाना, हाथ धोना और सोशल डिस्टेसिंग जैसे नियमों का पालन करना होगा।

वैक्सीन के अलग-अलग नियम

बता दें कि विदेशों में प्रेग्नेंट औरतों को बहुत पहले से कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरुआत हो चुकी है लेकिन अब भारत में भी इसकी मंजूरी दे दी गई है।

. गर्भवती महिलाएं टीकाकरण के लिए कोविन पर पंजीकरण करवाकर या सीधे अपने कोविड केंद्र से वैक्सीन लगवा सकती हैं।
. वहीं, महाराष्ट्र में गर्भवती महिलाओं को कोरोना टीका लगवाने से पहले डॉक्टर से अप्रूवल सर्टिफिकेट लेना होगा।

PunjabKesari

Related News