11 DECWEDNESDAY2019 9:01:33 AM
Nari

बच्चेदानी निकलवाने का सोच रही हैं तो पहले जान लें इसके नुकसान

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 26 Aug, 2018 11:48 AM
बच्चेदानी निकलवाने का सोच रही हैं तो पहले जान लें इसके नुकसान

माहवारी के बाद लड़कियों के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं, जिसके कारण उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है। महिलाओं को लगता है कि बच्चेदानी यानी यूटेरस ही उनके पीरियड्स और प्रेग्नेंसी में होने वाली समस्याओं का कारण है। ऐसे में वह यूटरेस निकलवाने के बारे में सोचती है लेकिन यूटेरस निकलवाने से परेशानी खत्म नहीं होती है बल्कि इसके कई तरह के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। यूटरेस कैंसर या किसी अन्य गंभीर बीमारी की स्थिति में ही निकलवाना सही होता है।
 

यूटेरस निकलवाने के नुकसान


रिकवरी में लगता है समय
बेशक महिलाओं को यूटरेस निकलवाना सही लगे लेकिन इसके बाद रिकवरी में काफी समय लग जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस दौरान महिलाओं के शरीर में लंबा कट लगाया जाता है और इसके महिलाओं को लंबी रेस्ट भी चाहिए होती है।  इतना ही नहीं, इस दौरान जो घाव या दाग होते हैं वह भी आसानी से नहीं जाते। कई बार तो यह निशान सालों-साल ऐसे ही रहते हैं।

 

 वैजाइना को भी होता है नुकसान
यूटरेस निकलवाने से वैजाइना को भी नुकसान पहुंचता है। वैजाइना शरीर का सबसे नाजुक अंग है। ऐसे में अगर सर्जन सर्जरी ध्यान से न करें तो इसके कारण वैजाइना को नुकसान पहुंचता है।
 

 एनीमिया का खतरा
यूटेरस को निकालते समय महिलाओं के शरीर से बहुत खून निकल जाता है। खून की ज्यादा मात्रा निकल जाने के कारण वह जल्दी रिकवर नहीं कर पाती और इसके कारण उन्हें एनीमिया की शिकायत हो जाती है। कई बार तो इसके कारण महिलाओं में ब्लड क्लॉटिंग भी हो जाती है, जिससे दिल और फेफड़ों को नुकसान पहुंचता है।
 

 समय से पहले मेनोपॉज
समय से पहले मेनोपॉज महिलाओं की सेहत के लिए खतरनाक है। यूटरेस निकलवाने से महिलाओं में समय से पहले ही मेनोपॉज की स्थिति उत्पन्न हो जाती है, जिससे सेहत को नुकसान पहुंचता है। इससे न सिर्फ महिलाओं का स्वबाव चिड़चिड़ा हो जाता है बल्कि इससे मानसिक विकार का खतरा भी बढ़ जाता है।

 

 आस-पास के अंगों में चोट
बच्चेदानी निकलवाने की प्रक्रिया में कई बार यूटरेस के आस-पास के अंगों जैसे फैलोपियन ट्यूब, आंतें, पेल्‍विक हड्डियां और ओवरी को चोट लग सकती है। इस चोट के कारण टिटनेस या इंफेक्शन का खतरा भी बढ़ जाता है। इतना ही नहीं, अंदरूनी चोटों को भरने में काफी समय लगता है, जिससे आपको उठने, चलने और बैठने में परेशानी हो सकती है।
 

 संबंध बनाते समय दर्द
यूटरेस निकलवाने से संबंध बनाते समय पेट के निचले हिस्‍से में दर्द महसूस हो सकता है। हालांकि सभी महिलाओं में ये लक्षण दिखाई नहीं देता है लेकिन ऐसी स्थिति में अपने डॉक्टर से बात करें।
 

 एनेस्‍थीसिया से दिक्‍कत
सर्जरी के दौरान होने वाले दर्द से बचने के लिए डॉक्‍टर मरीज को एनेस्‍थीसिया देते हैं। इसके कारण महिलाओं को सांस लेने में दिक्कत और दिल से संबंदित समस्या हो सकती है।

 

फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Related News