04 JUNTHURSDAY2020 4:46:44 AM
Nari

अरूण को 'राम' समझ जब महिला ने अपना बीमार बच्चा रख दिया उनके पैरों में

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 14 May, 2020 02:20 PM
अरूण को 'राम' समझ जब महिला ने अपना बीमार बच्चा रख दिया उनके पैरों में

रामानंद सागर की रामायण ने तो वापिस आकर भी  लोगों के दिलों पर एक बार फिर राज किया। रामानंद सागर की रामायण जबसे दोबारा टीवी पर आई है तबसे ही लोगों को अपने फेवरेट किरदारों से जुड़े कई किस्से  सुनने को मिल रहे है। लोगों की भावनाएं इस शो के साथ इतनी जुड़ी है कि वो हर किरदार को भगवान का रूप ही मानते है।

ऐसा ही पुराना किस्सा सुनाया रामायण के राम यानि अरूण गोविल ने अपनी हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में बताया कि जब एक महिला अपने बीमार बच्चे को उनके पास लेकर आई और उनके पैरों में अपना बच्चा रख दिया। 

PunjabKesari

ये किस्सा तब का है जब गोविल ने राम का गेटअप नहीं लिया था और वह सेट पर हाफ पैंट और टीशर्ट पहन कर बैठे हुए थे। तभी उन्हें शोर सुनाई दिया, गोविल के पूछने पर लोगों ने कहा कि एक औरत है जो राम को ढूंढ रही है। 

अरूण उठे और जाकर दरवाजे के पास गए तो वो औरत बहुत हड़बड़ी में आई और राम जी कहां हैं? , राम जी कहां हैं चिल्लाने लगी.. जब किसी क्रू मेंबर ने अरुण  की तरफ इशारा करके चिल्लाया। अरूण ने बताया कि वो महिला बहुत परेशान थीं उसकी गोद में जो बच्चा था उसने लाकर उस बच्चे को मेरे पैरों में डाल दिया और कहा कि इस बच्चे को बचा लो।

PunjabKesari

 वह उस वक्त अवाक रह गए थे और उन्हें समझ में नहीं आया कि उस वक्त वो क्या करें, अरुण ने कहा कि इसे कोई डॉक्टर के पास ले जाइए...तो महिला ने चिल्लाया कि डॉक्टर इसे नहीं बचा पाएंगे...डॉक्टर ने मना कर दिया है कि अब ये बचेगा नहीं। ये मर जाएगा..तुम इसे बचा लो। तुम राम हो।

इसके बाद अरूण को कुछ समझ नहीं आने पर उन्होंने आंखें बंद करके ईश्वर से प्रार्थना की कि बच्चे के लिए जो कर सकें कर दें। तब महिला वहां से चली गई लेकिन जब वो  तीन दिन बाद वो वापस उस सेट पर लेकर आई और तो इस दिन उसका बच्चा उसके साथ उसकी उंगली पकड़ कर चल रहा था। अरूण ने कहा ये किस्सा उनके लिए काफी हैरान करने वाला था।

Related News