22 JANFRIDAY2021 8:23:02 PM
Nari

इन फूड्स आइट्म को कच्चा खाने की गलती ना करें, शरीर को होंगे कई नुकसान

  • Edited By neetu,
  • Updated: 19 Sep, 2020 10:48 AM
इन फूड्स आइट्म को कच्चा खाने की गलती ना करें, शरीर को होंगे कई नुकसान

खाने में ऐसी बहुत सी चीजें होती है जिसे पकाने के साथ कच्चा भी खाया जा सकता है। खासतौर पर कुछ चीजों को कच्चा खाने से भरपूर मात्रा में शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं। मगर यहां हम आपको बता दें, कुछ चीजें ऐसी भी होती है जिसे कच्चा खाने की कभी भी गलती नहीं करनी चाहिए। नहीं तो सेहत को कई नुकसान झेलने पड़ सकते हैं। इससे पेट से जुड़ी और शरीर को अन्य कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। तो चलिए जानते हैं उन चीजों के बारे में विस्तार से...

nari,PunjabKesari

हरा आलू

अगर कहीं आलू के ज्यादा धूप लग जाए तो उसका कुछ भाग हरे रंग में बदल जाता है। इसतरह के आलू में सोलेनाइन नाम का केमिकल बनता है। ऐसे में इसे आलू को कच्चा खाने की जगह पकाकर खाने में ही भलाई नहीं तो शरीर में कमजोरी, थकान, सिर में दर्द, मतली होने के साथ पेट से संबंधित शिकायतें हो सकती है। अगर आप अपने आलू को हरा होने से बचाना चाहते हैं तो इसके लिए उसे हमेशा ठंडे स्‍थान पर ही रखें। साथ ही जितना हो सके हरे आलू को खाने से परहेज रखें।

अंडा

हाई रिच प्रोटीन से भरपूर अंडे को ज्यादातर लोग नाश्ते में खाना पसंद करते हैं। पौष्टिक गुणों से भरा होने के चलते इसके सेवन से शरीर को काफी लाभ मिलते हैं। मगर इसे अच्छे से पकाकर ही खाना चाहिए। अगर कहीं इसे कच्चा खाया जाए तो इससे पेट में दर्द, गड़बड़ी साथ ही इससे जुड़ी अन्य बीमारियों के लगने का खतरा बढ़ता है। 

nari,PunjabKesari

राजमा 

किडनी बींस यानि राजमा में कलप्रिट नाम का एक विषैला पदार्थ पाया जाता है। ऐसे में इसे कच्चा खाने से पेट में दर्द, सूजन, सिरदर्द, मतली, जी- मचाला व उल्टी आने की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसके लिए इसे खाने से पहले हमेशा 4-5 घंटे भिगोकर या उबाल कर ही सेवन करना चाहिए। 

nari,PunjabKesari

चिकन 

अगर आप भी चिकन को कच्चा खाते हैं तो अपनी इस आदत को आज ही बदल लें। इसे कच्चा खाने से पेट की सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है। ऐसे में पेट में बैक्टीरिया पनपने की परेशानी हो सकती है। साथ ही यह परेशान आगे बढ़कर आपको फूड प्‍वॉयजनिंग का शिकार बना सकती है। इससे बचने के लिए चिकन को हमेशा अच्छे से साफ कर और पकाकर ही खाए। इसे पकाने का तापमान 165 डिग्री रखने पर इसमें पाएं जाने वाले सभी बैक्टीरिया मर जाते हैं।

कसावा 

इसमें साइनाइड नामक तत्व होता है, जो इसे कीड़ें लगने से बचाता है। ऐसे में इसे कच्चा खाने से शरीर के लिए नुकसावनदायक हो सकता है। अगर आप इसे खाना ही चाहते हैं तो पहले इसे अच्छे से धोएं। फिर पकाकर ही खाए।

nari,PunjabKesari


 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News