25 MAYWEDNESDAY2022 5:32:46 AM
Nari

कोरोना का असरः लॉकडाउन में बंद हुए मंदिर तो 90 जोड़ों ने गेट पर ही रचाई शादियां

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 24 Jan, 2022 02:21 PM
कोरोना का असरः लॉकडाउन में बंद हुए मंदिर तो 90 जोड़ों ने गेट पर ही रचाई शादियां

तमिलनाडु में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगाए गए लॉकडाउन में मंदिर बंद होने के कारण 23 जनवरी को 90 से अधिक जोड़ों ने यहां के एक शीर्ष वैष्णव मंदिर के बाहर शादी रचाई। मंदिर के कार्यकारी अधिकारी ए. वीरबथिरन और पुजारी संघ के सचिव रथिना सबपति ने बताया कि रविवार को पुजारियों ने इस लोकप्रिय मंदिर के सामने सड़क पर कम से कम 91 शादियां करवाईं।

90 से अधिक जोड़ों ने बंद मंदिर के बाहर रचाई शादी

राज्य में कोविड-19 संबंधी प्रतिबंधों के कारण सभी धार्मिक स्थलों को शुक्रवार, शनिवार और रविवार को बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। वीरबथिरन और सबपति ने बताया कि रविवार को एक शुभ मुहूर्त होने के कारण मंदिर के पास सड़क पर कुल 91 शादियां कराई गईं। जिला मुख्यालय से करीब 12 किलोमीटर दूर स्थित इस छोटे से कस्बे के मंदिर में कुल 110 शादियों के लिए पंजीकरण कराए गए थे। विवाह कराने के लिए यह मंदिर राज्य में, खासकर कुड्डालोर और उसके आसपास के इलाकों में काफी लोकप्रिय है।

PunjabKesari

ब्रह्म मुहूर्तम में की शादी

शादियों का आयोजन रविवार सुबह साढ़े चार बजे से 11 बजे के बीच 'मुहूर्तम' में किया गया। सुबह के समय को 'ब्रह्म मुहूर्तम' माना जाता है। अधिकारियों ने बताया कि मंदिर, भगवान विष्णु को समर्पित 108 ‘दिव्य देशम’ में से एक है। इसके परिसर में एक हॉल है, जहां एक बार में 40 शादियां आयोजित की जा सकती है। मंदिर के खुले होने पर विवाह करने पर कोई रोक नहीं है।

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, तमिलनाडु में 23 जनवरी को कोविड-19 के 30,580 नए मामले सामने आए थे। राज्य में रात 10 से सुबह पांच बजे के बीच रात्रिकालीन कर्फ्यू भी लागू है।

Related News