28 MARSATURDAY2020 9:23:23 PM
Nari

एक सोच ऐसी भी... श्रावणी ने उठाया गरीब औरतों को काम दिलाने का जिम्मा

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 08 Mar, 2020 12:30 PM
एक सोच ऐसी भी... श्रावणी ने उठाया गरीब औरतों को काम दिलाने का जिम्मा

आपने पुरुष सुरक्षा गार्ड को तो बहुत बार देखा होगा लेकिन क्या कभी आपने महिला सुरक्षा गार्डों को देखा है? लोगों के मन में यह एक स्टीरियोटाइप बन गया है, जहां वो महिलाओं को इस भूमिका में सोच ही नहीं पाते।

PunjabKesari

हालांकि अब शायद ही आज कोई ऐसा क्षेत्र हों, जिसमें महिलाओं ने अपनी पहचान न बनाई हो। पुरूषों को पीछे छोड़ते हुए चुनौतियों का डटकर सामना करते हुए महिलाएं हर काम में आगे बढ़ रही हैं। वहीं महिलाओं की तरक्की और लोगों के इस स्टीरियोटाइप को तोड़ने के लिए सेफ हैंड्स 24x7 की संस्थापक 33 वर्षीय श्रावणी पवार महिलाओं को सुरक्षा गार्ड बनने के लिए प्रशिक्षित कर रही है।

PunjabKesari

जी हां, श्रावणी महिलाओं को सुरक्षा गार्ड बनने की ट्रेनिंग देती है। वह ज्यादातर उन महिलाओं को काम सिखाती हैं, जो कमजोर व गरीब घर से हो। यही नहीं, उनका यह स्टार्टअप ना सिर्फ महिलाओं बॉडीगार्ड का काम सिखाकर सशक्त बनाती है बल्कि वो गरीब महिलाओं को वित्तीय सहायता भी देती है।

PunjabKesari

उनके अंडर काम करने वाले महिलाएं चुनिन्दा ग्राहक जैसे महिला छात्रावास, अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान और कुछ व्यावसायिक परिसरों में सेवाएं देती हैं। वह कर्नाटक, गोवा, हैदराबाद और चेन्नई में भी अपनी सेवाएं प्रदान करती है। 'सेफ हैंड्स 24X7' ने अब तक लगभग 600 महिलाओं को प्रशिक्षित किया है और उनका वार्षिक कारोबार 6 करोड़ रुपये का है। यह कर्नाटक, गोवा, हैदराबाद और चेन्नई में अपनी सेवाएं प्रदान करता है।

PunjabKesari

श्रावणी का कहना है कि हम लोकल शहर में रहने वाले ग्राहकों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, ताकि कर्मचारियों के लिए यात्रा करना सुविधाजनक हो। हमारा एक मुख्य उद्देश्य स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करना है ताकि वे अपने परिवार के साथ रहकर काम कर सकें। हम ऐसी जगहों का चयन करते हैं, जो महिलाओं के लिए सुरक्षित व आरामदायक हो, ताकि वो अपने आस-पास के लोगों को भी यही भावना दे सकें।

PunjabKesari

निजी सुरक्षा एजेंसियों के विनियमन अधिनियम, 2005 (PSARA) के अनुसार भारतीय सेना के पूर्व सैनिकों द्वारा इन गार्डों को प्रशिक्षित किया जाता है। यहां महिलाओं को सुरक्षा गार्ड की ड्यूटी के साथ शारीरिक, मानसिक ट्रेनिंग भी दी जाती है, ताकि वो अपने कर्तव्यों से चूंके नहीं।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News