18 MAYWEDNESDAY2022 5:18:10 AM
Nari

बच्चे को बनाना चाहते हैं Healthy तो डाइट में शामिल करें ये Foods

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 03 May, 2022 12:49 PM
बच्चे को बनाना चाहते हैं Healthy तो डाइट में शामिल करें ये Foods

हर कोई माता-पिता चाहता है कि उनका बच्चा स्वस्थ हो। बच्चे यदि दुबले-पतले हो तो माता-पिता को चिंता सताने लगती है। खराब, खानपान और गलत आदतों के कारण उनके स्वास्थ्य पर भी गहर असर पड़ता है। परंतु यदि आप उनकी डाइट का खास ख्याल रखें तो आप उन्हें हेल्दी बना सकते हैं। गर्मी के मौसम में होने वाली समस्याएं जैसी धूप से एलर्जी, खुजली, घमौरियों से भी राहत दिला सकते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ फूड्स के बारे में...

एवोकैडो  

आप बच्चे की डाइट में एवोकैडो जरुर शामिल कर सकते हैं। इसमें विटामिन-ई और विटामिन-सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा एवोकैडो को पैंटोथिनिक एसिड का भी बहुत ही अच्छा स्त्रोत माना जाता है जो आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही आवशअयक होता है। आप बच्चे को एवोकैडो सलाद के रुप में भी खिला सकते हैं। 

PunjabKesari

केला 

यदि आपका बच्चा दुबला पतला है तो आप उसे केला भी खिला सकते हैं। इसमें विटामिन्स, मिनरल्स, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, एंटी-ऑक्सीडेंट्स जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। आप बच्चे को  केले का शेक भी बनाकर दे सकते हैं। बच्चा खुश होकर पी लेगा। 

PunjabKesari

दालें

आप बच्चों को दालों का सेवन भी जरुर करवाएं। इसमें कैल्शियम, विटामिन्स, मैग्निशियम और आयरन  भरपूर मात्रा में पाया जाता है। दालों का फाइबर का भी बहुत ही अच्छा स्त्रोत माना जाता है। इसका सेवन करने से बच्चे का स्वास्थ्य एकदम तंदरुस्त रहता है और वजन बढ़ाने में भी दालें बहुत ही फायदेमंद होती हैं। 

PunjabKesari

देसी घी 

आप बच्चों को देसी घी का सेवन भी जरुर करवाएं। रोटी या फिर दाल सब्जी में आप उसे देसी घी डालकर दे सकते हैं। इसमें कैल्शियम, फास्फोरस और पोटैशिम की भी बहुत ही अधिक मात्रा पाई जाती है। बच्चे का वजन बढ़ाने में देसी घी बहुत ही मददगार होता है। आप बच्चे की डाइट में देसी घी शामिल कर सकते हैं। 

 अंडे 

आप बच्चे को अंडे खिला सकते हैं। इसमें सैचुरेटेड फैट्स, कार्बोडाइड्रेट्स, प्रोटीन बहुत ही अधिक मात्रा में पाया जाता है। बच्चे के शारीरिक विकास के लिए अंडा बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। आप बच्चे को अंडे की अलग-अलग रेसिपीज  बनाकर दे सकती हैं। इससे उन्हें अंडे खानी के आदत भी हो जाएगी। 

PunjabKesari

Related News