02 DECWEDNESDAY2020 6:21:59 AM
Nari

उद्धव ठाकरे पर फिर बरसीं कंगना, बोलीं- आप नेपोटिज्म के खराब प्रोडक्ट हो

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 26 Oct, 2020 06:18 PM
उद्धव ठाकरे पर फिर बरसीं कंगना, बोलीं- आप नेपोटिज्म के खराब प्रोडक्ट हो

बॉलीवुड की क्वीन कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच  जुबानी जंग बढ़ती जा रही है। हाल ही में कंगना ने एक और बार सीएम उद्धव ठाकरे को खरी खोटी सुनाई है। दरअसल कंगना ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी शेयर की है। जिसमें वह उद्धव ठाकरे को निशाने पर लेते हुए कहती हैं जब आपने भाषण में गाली दी तो महिला सशक्तिकरण की बात करने वाला एक भी इंसान उनके लिए खड़ा नहीं हुआ। 

PunjabKesari

शेयर की गई वीडियो में कंगना कहती है , ' उद्धव ठाकरे तुमने कल (रविवार को) मुझे अपने भाषण में मुझे गाली दी, नमक हराम कहा। इससे पहले भी सोनिया सेना के कई लोगों ने मुझे जबड़ा तोड़ने या सरेआम मुझे मार देने की धमकी दी। हरामखोर कहा। कई अभद्र गालियां इससे पहले भी मुझे सोनिया सेना ने दी हैं। लेकिन नारी सशक्तिकरण के जो ठेकेदार हैं, उन्होंने कुछ नहीं कहा।'

अपनी वीडियो में कंगना ने आगे कहा ,' उसी भाषण में आपने मां पार्वती की जन्मभूमि हिमाचल के बारे में इतनी ज्यादा तुच्छ बातें की हैं। एक चीफ मिनिस्टर होकर आपने पूरे स्टेट को नीचे गिराया क्योंकि आप एक लड़की से नाराज हैं और वह लड़की आपके बेटे की उम्र की है।'

इतना ही नहीं कंगना ने वीडियो में मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से करने के पीछे की वजह बताई है। एक्ट्रेस ने कहा ,' चीफ मिनिस्टर आप मुझसे बहुत नाराज हुए थे, जब मुझे धमकाने के बाद मैंने वहां की तुलना (क्योंकि वहां पर आजाद कश्मीर के नारे लगे थे और आपकी सोनिया सेना ने उसका बचाव किया था, इसलिए) पीओके से की थी। तब संविधान को बचाने वाले उछलकर आए थे। कल आपने उसी भाषण में भारतवर्ष की तुलना ही पाकिस्तान से की। अब वो संविधान वाले नहीं आएंगे क्योंकि उनके मुंह में कोई पैसा नहीं ठूंस रहा। मैं कहना चाहती हूं कि जितने भी देशभक्त हैं, उनकी कोई मदद नहीं करता। अगर आप देशभक्ति के बारे में बात करते हैं, देश के लिए कुछ करते हैं तो कौन-सा हम पर एहसान कर रहे हैं लेकिन देश विद्रोह के लिए आपके मुंह में पैसे ठूंसे जाते हैं।'

कंगना ने इस संबंध में एक ट्वीट भी किया और लिखा ,' मुझे हरामखोर कहा, उद्धव मुझे नमक हराम कह रहे हैं। वे दावा कर रहे हैं कि मुंबई में मुझे शरण नहीं मिलती तो अपने राज्य में मुझे खाना भी नहीं मिलता। शर्म करो, मैं आपके बेटे की उम्र की हूं। आपकी बातों से पता चलता है कि एक सेल्फ मेड सिंगल वूमन से आप कैसे बोलते हैं, मुख्यमंत्री आप नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) के खराब प्रोडक्ट हैं।'

गौरतलब है बीते दिनों उद्धव ठाकरे ने बिना कंगना का नाम लिए उन पर निशाने साधते हुए कहा था यहां रोजगार के लिए लोग आते हैं और मुंबई को बदनाम करते हैं। जिन लोगों को अपने राज्य में ठीक से खाना नहीं मिलता है, वे यहां आते हैं। ठाकरे ने अपने ठाकरे ने अपने भाषण में दावा किया था कि गांजा की खेती हिमाचल में की जाती है।

Related News