23 OCTFRIDAY2020 6:01:56 AM
Nari

सर्दी-जुकाम हो या ब्रोंकाइटिस, बाबा रामदेव से जानें इनसे निपटने का तरीका

  • Edited By neetu,
  • Updated: 14 Oct, 2020 01:28 PM
सर्दी-जुकाम हो या ब्रोंकाइटिस, बाबा रामदेव से जानें इनसे निपटने का तरीका

अक्तूबर का महीना शुरू होते ही गर्मी कम हो सर्दी की शुरूआत होने लगती है। ऐसे में मौसम का बदलना सेहत से जुड़ी कई परेशानियों को लेकर आता है। सर्दियों में एलर्जी होने की समस्या होने से खांसी, जुकाम आदि से ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं। ऐसे में ही पतंजली आयुर्वेद के संस्थापक बाबा रामदेव के अनुसार, इस एलर्जी से राहत पाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक चीजों का सेवन किया जा सकता है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि आयुर्वेद के सहारे किस तरह इस एलर्जी से छुटकारा पाया जा सकता है।  

श्वासारि क्वाथ

बाबा रामदेव के अनुसार, श्वासारि क्वाथ का सेवन करने से सालों पुरानी एलर्जी से भी राहत मिलती है। यह सर्दी, जुकाम, खांसी, गले में दर्द, बुखार, कब्ज, शरीर में दर्द, अपच, ब्रोंकाइटिस यानि सांस से जुड़ी समस्या आदि की परेशानियों के साथ अस्थमा और कैंसर जैसे रोगों से भी बचा सकता है। 

PunjabKesari

त्रिकुट चूर्ण 

त्रिकुटा चूर्ण का सेवन करने से इम्यूनिटी बढ़ती है। ऐसे में बीमारियों के लगने का खतरा कई गुणा कम होता है। इससे सांस से जुड़ी समस्या से राहत मिलने के साथ एलर्जी, खांसी, जुकाम, गला दर्द आदि की परेशानी दूर होती है। भूख बढ़ाने के साथ पाचन तंत्र मजबूत होने के साथ फेफड़े बेहतर तरीके से काम करते हैं। इसे घर पर तैयार करने के लिए सौंठ यानी सूखा अदरक, काली मिर्च, पिप्पली को बराबर मात्रा में लेकर मिक्सी में पीस लें। तैयार चूर्ण को 2 से 3 लेकर शहद के साथ खाएं। 

हल्दी वाला दूध 

एंटी- ऑक्सीडेंट, एंटी- वायरल आदि गुणों से भरपूर हल्दी का सेवन करने से इम्यूनिटी स्ट्रांग होती है। इससे सर्दी, खांसी, जुकाम, गले व पेट से जुड़ी परेशानियों से राहत मिलती है। हल्दी को डेली डाइट में शामिल करने के साथ इसे दूध में मिलाकर भी पीया जा सकता है। हल्दी दूध को तैयार करने के लिए एक पैन में 1 गिलास दूध और चुटकीभर हल्दी डालकर 2 से 4 उबाल आने दें। फिर इसे ठंडा कर छान लें। तैयार दूध का सोने से पहले सेवन करने करें। 

PunjabKesari

गिलोय का पानी

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए गिलोय के पानी का सेवन फायदेमंद होता है। रोजाना इसका सेवन करने से मौसमी बुखार, सर्दी- खांसी दूर होने के साथ एलर्जी से राहत मिलती है। साथ ही बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है। इसे बनाने के लिए सबसे पहले गिलोय को धोकर एक-एक इंच के 5 टुकड़े काटें। फिर गैस की मीडियम आंच पर एक पैन में 2 कप पानी डालें। अब इसमें गिलोय, 1 छोटा चम्मच हल्दी, 6-7 तुलसी के पत्ते, 1 टुकड़ा अदरक, स्वादानुसार गुड़ या शहद डालकर पानी को आधा होने तक उबालें। तैयार पानी को ठंडा कर छन्नी की मदद से छान कर सेवन करें। ध्यान दें, एक दिन में 1 कप गिलोय का पानी ही पीएं। 

आंवला 

विटामिन- सी और औषधीय गुणों से भरपूर आंवला का सेवन करने से शरीर में होने वाली एलर्जी की परेशानी दूर होती है। पाचन तंत्र मजबूत होने के साथ बीमारियों के लड़ने की शक्ति मिलती है। डायबिटीज व ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहने के साथ वजन कम होता है। आंखों की रोशनी बढ़ती है। साथ ही शरीर को सभी उचित तत्व आसानी से मिल जाते हैं। आप इसका कच्चा, जूस, मुरब्बा या आचार के रूप में सेवन कर सकते हैं। 

PunjabKesari

 

Related News