04 MARTHURSDAY2021 3:31:51 PM
Nari

हिम्मत से मिली जीत! सबकुछ हो गया चोरी लेकिन हारी नहीं, 100 रुपये में फिर से खड़ा किया बिजनेस

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 16 Jan, 2021 01:30 PM
हिम्मत से मिली जीत! सबकुछ हो गया चोरी लेकिन हारी नहीं, 100 रुपये में फिर से खड़ा किया बिजनेस

इंसान जिंदगी में बहुत बार ऐसी चीजें करता हैं जो उसका सपना होती हैं। किसी का अपना बिजनेस चलाने का सपना होता है और वह इसके लिए पैसे जोड़ता है। तो किसी अपना घर बनाने का सपना होता लेकिन अगर आपने दिन रात मेहनत कर कुछ तैयार किया हो और वह गुम या चोरी हो जाए तो आप का हाल तो बुरा होगा ही। ऐसी घटनाओं के बाद हर कोई हार मानने लगता है लेकिन अगर जिंदगी आपके इम्तेहान ले रही है तो आपको भी हारना नहीं चाहिए बल्कि आपको डटकर उसके सामने खड़े हो जाना चाहिए और फिर से मेहनत कर वो मुक्काम पाना चाहिए। 

कुछ ऐसा ही हुआ था तमिलनाडु की रहने वाली  इलावरासी जयकांत के साथ। जिन्होंने कईं सपने देखें लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हो गया कि उनकी जिंदगी ही खत्म होने की कगार पर आ गई थी लेकिन इतना सब कुछ होने के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी। तो चलिए आपको इस महिला की कहानी बताते हैं। 

बचपन से कर रहीं मिठाई और नमकीन का काम 

PunjabKesari

तमिलनाडु की इलावरासी केरल में रहती है और वह बचपन से ही मिठाई बनाने का और नमकीन बनाने का काम करती थीं।इस काम के प्रति इलावरासी प्रेम इतना था कि शादी के बाद भी उन्होंने इस काम को नहीं छोड़ा। शादी के बाद भी उन्होंने मिठाई को और नमकीन को घर पर बनाने का काम किया और यह प्रोडक्ट्स बेचे। लोगों ने भी इलावरासी के इस काम को काफी पसंद किया और उन्हें इसके काफी ऑर्डर्स भी मिले। 

हमेशा था बिजनेसवुमन बनने का सपना 

इलावरासी हमेशा से ही एक ही सपना रहा कि वह एक बिजनेसवुमेन के रूप में काम करें। इसके लिए उन्हें परिवार वालों का भी भरपूर सपोर्ट मिला। काम को आगे बढ़ाने के लिए और उद्यमी बनने के लिए उन्होंने 50 लाख रुपये का लोन ले लिया और त्रिशूर में एक सुपरमार्केट खोला। 

खूब मुनाफा कमाया 

इलावरासी का काम बहुत अच्छा चल रहा था। उन्हें अपने इस काम से खूब मुनाफा भी हो रहा था। इसका कारण था इलावरासी का दूसरे से अलग बिजनेस जो लोगों ने खूब पसंद किया। इलावरासी हलवा, चिप्स, और केक जैसे नमकीन और मिठाइयां बेचती थीं जो कि आम, संतरा, चुकंदर फलों और सब्जियों से बने थे। इतना ही नहीं उन्होंने अपने साथ-साथ 50 लोगों को और भी रोजगार दिया। 

दुकान में हुई चोरी और सब कुछ हुआ खत्म 

इलावरासी का काम काफी अच्छा चल रहा था लेकिन एक दिन उनकी दुकान में चोरी हो गई और सब कुछ खत्म हो गया। इससे उनका काम भी काफी प्रभावित हुआ। इस चोरी का उनपर इतना प्रभाव पड़ा कि वह अस्पताल तक जा पहुंची थी। इसका कारण था कि एक तो सारा काम ठप पड़ गया और दूसरा बैंक वालों ने लोन के पैसे वापिस मांगने शुरू कर दिए। 

PunjabKesari

हारी नहीं फिर शुरू किया 100 रूपए से बिजनेस 

जिंदगी में इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी वह हारी नहीं और इलावरासी ने हारने की बजाए और जिंदगी को कोसने की बजाए खुद के पैरों पर खड़ी हुईं और महज100 रूपए से फिर काम शुरू किया और बैंक के पैसे वापिस दिलाने का भी हौसला दिया।  इलावरासी ने फिर Aswathi Hot Chips नाम से बिजनेस शुरू किया। 100 रूपए से शुरू किया गया बिजनेस आज काफी मशहूर हो गया है और इसके थ्रिसूर में ही इसके 4 आउटलेट हैं। यहां अलग-अलग तरह के चिप्स, आचार और केक मिलते हैं। साल 2019 में उनकी इसी मेहनत और लगन को देखते हुए उन्हें International Peace Council UAE Award ‘Best Entrepreneur’ भी मिल चुका है। 

सच में हम भी इलावरासी के इस हौसले को सलाम करते हैं क्योंकि ऐसा अक्सर देखा जाता है कि लाइफ में इतना कुछ हो जाने के बाद लोग हिम्मत हार जाते हैं कुछ तो अपनी जिंदगी खत्म करने की ही सोच लेते हैं लेकिन इस मुश्किल समय में भी इलावरासी हारी नहीं। 

Related News