16 OCTWEDNESDAY2019 11:38:13 PM
Life Style

10 साल की उम्र में ही बन गई थी फेमस हीरोइन, इस शख्स के लिए रही उम्रभर कुंवारी

  • Edited By Priya dhir,
  • Updated: 22 Sep, 2019 03:03 PM
10 साल की उम्र में ही बन गई थी फेमस हीरोइन, इस शख्स के लिए रही उम्रभर कुंवारी

70-80 दशक में एेसी कई एक्ट्रेस रही है जो अपनी खूबसूरती के लिए फेमस थी इन्हीं में से एक थी नंदा। नंदा ने 5 साल की उम्र में फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया। नंदा की फिल्मों में एंट्री की कहानी बेहद दिलचस्प है। 

5 साल की उम्र में शुरू किया करियर

दरअसल, नंदा के पिता विनायक दामोदर मराठी फिल्मों के अभिनेता और निर्देशक थे। एक दिन जब नंदा स्कूल से घर आई तो उनके पिता ने कहा कल तैयार रहना। फिल्म के लिए तुम्हारी शूटिंग है। पहले नंदा ने मना कर दिया फिर बड़ी मुश्किल से मां के समझाने पर वो शूटिंग पर जाने को राजी हुईं। फिल्म का नाम था मंदिर और इसके निर्देशक नंदा के पिता ही थे। फिल्म की शूटिंग खत्म होने से पहले ही नंदा के पिता की मौत हो गई। पिता की मौत के बाद उनके परिवार की आर्थिक स्थिति खराब हो गई। उन्हें अपना बंगला व कार भी बेचनी पड़ी।

PunjabKesari

10 साल की उम्र में बनी हीरोइन

छोटी सी उम्र में ही नंदा पर परिवार की जिम्मेदारी आ गई। नंदा ने एक्टिंग को अपनी ताकत बनाया। 10 साल की उम्र में ही वह हीरोइन बन गई लेकिन मराठी सिनेमा की। 1957 में उन्होंने हिंदी फिल्मों में कदम रखा। नंदा की किस्मत फिल्म छोटी बहन से चमकी। इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में काम किया।

मनमोहन देसाई से करती थी प्यार

परिवार की जिम्मेदारियों के बीच नंदा को अपने बारे में सोचने का समय ही नहीं मिला। नंदा डायरेक्टर मनमोहन देसाई से प्यार करती थीं। वही देसाई भी उन्हें मोहब्बत करते थे लेकिन बेहद शर्मीली नंदा ने मनमोहन को कभी अपने प्यार का इजहार करने का मौका ही नहीं दिया और उन्होंने शादी कर ली। मनमोहन की शादी के बाद नंदा काफी उदास रहने लगी और गुमनामी की जिंदगी जीने लगी।

PunjabKesari

52 साल की उम्र में की सगाई 

वही मनमोहन अपनी शादीशुदा लाइफ में बिजी थे। कुछ समय बाद ही उनकी पत्नी की मौत हो गई। बाद में मनमोहन ने फिर से नंदा के नाम मोहब्बत का पैगाम पहुंचाया। नंदा ने उसे स्वीकार किया। उस वक्त नंदा की उम्र 52 साल थी। उन्होंने मनमोहन से सगाई कर ली लेकिन शायद नंदा की किस्मत में पति का सुख नहीं था। सगाई के 2 साल बाद मनमोहन की एक हादसे में मौत हो गई। नंदा उम्रभर अविवाहित रही।

PunjabKesari

खबरों के मुताबिक, नंदा जब भी बाहर जाती थीं तो वो सफेद साड़ी में जाती थीं क्योंकि वो मनमोहन देसाई को अपना पति मानती थीं। मनमोहन की मौत के बाद वह काफी अकेली हो गई। वह किसी से बात भी नहीं करती। 2014 को हार्ट अटैक के चलते 75 साल की उम्र में नंदा का निधन हो गया था।  

Related News