19 JANTUESDAY2021 11:49:42 AM
Nari

Diwali 2020: इसलिए चढ़ाया जाता है देवी लक्ष्मी को कमल का फूल

  • Edited By neetu,
  • Updated: 12 Nov, 2020 10:28 AM
Diwali 2020: इसलिए चढ़ाया जाता है देवी लक्ष्मी को कमल का फूल

दिवाली का त्योहार भारत देश में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश जी की कृपा पाने के लिए विशेष रूप से पूजा की जाती है। देवी लक्ष्मी कमल के फूल पर विराजित होती है। ऐसे में इस दिन देवी मां को कमल का फूल चढ़ाना शुभ माना जाता है। माना जाता है कि इससे पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि व शांति का वास होता है। तो चलिए जानते हैं दिवाली के दिन धन की देवी लक्ष्मी को कमल का फूल चढ़ाने से किस प्रकार उनकी कृपा मिलती है...

सकारात्मक ऊर्जा का संचार

कमल का फूल नकारात्मक ऊर्जा को सकारात्मक में बदल देता है। साथ घर-परिवार में होने वाले लड़ाई-झगड़े दूर हो आपसी प्यार बढ़ता ही। ऐसे में इसे देवी मां को जरूर चढ़ाएं। 

PunjabKesari

पापों से मुक्ति

अक्सर हम अनजाने में बहुत से पापों के भागीदार हो जाते हैं। ऐसे में देवी लक्ष्मी को उनका प्रिय कमल का फूल चढ़ाने से पापों से छुटकारा मिलता है। साथ ही घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो सुख-समृद्धि व शांति बनी रहती है। 

भगवान विष्णु की मिलेगी कृपा

श्रीहरि के चारों हाथों में गंदा, चक्र, शंख और कमल का फूल होता है। इनमें कमल का फूल देवी लक्ष्मी के भगवान विष्णु जी के साथ होने का प्रतीक माना जाता है। ऐसे में धन की देवी लक्ष्मी के साथ श्रीहरि की कृपा भी मिलती है।

PunjabKesari

आर्थिक स्थिति होगी मजबूत

धन की देवी लक्ष्मी कमल के फूल पर वास करती है। इसलिए दिवाली पूजा में कमल का फूल जरूर रखें। मान्यता है कि इससे देवी लक्ष्मी खुश होने के साथ घर में वास करती है। ऐसे में आर्थिक परेशानी दूर हो आय के नए स्रोत मिलते हैं।

मन में फैली बुराई का नाश 

पुराणिक कथाओं के अनुसार, देवी लक्ष्मी का नाम कमला और कमलासना है। इसका अर्थ कमल में विजमान व रहने वाली होता है। कमल के फूल की खासियत है कि वह कीचड़ में उगने के बाबजूद भी एकदम स्वच्छ रहता है। उसपर कीचड़ छू भी नहीं पाता है। इसलिए इसे देवी लक्ष्मी की प्रिय चीजों में से एक माना जाता है। ऐसे में इसे देवी मां को अर्पित करने से व्यक्ति के मन में फैली बुराई का अंत को वह अच्छाई के रास्ते पर चलने लगता है।

PunjabKesari
 

Related News