25 SEPFRIDAY2020 8:24:52 PM
Nari

जन्माष्टमी स्पैशल: कान्हा को क्यों और किसने दी बांसुरी?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 11 Aug, 2020 03:19 PM
जन्माष्टमी स्पैशल: कान्हा को क्यों और किसने दी बांसुरी?

जब कभी भी बांसुरी का नाम आता है तो हर किसी के दिमाग में सबसे पहले श्रीकृष्ण की छवि ही आती है। बांसुरी भगवान श्रीकृष्ण को सबसे अधिक प्रिय है इसलिए इसे भी सबसे पवित्र माना जाता है। मगर, शायद ही कोई यह जानता हो कि भगवान श्रीकृष्ण को बांसुरी किसने और क्यों दी। चलिए आपको बताते हैं बांसुरी और भगवान श्रीकृष्ण का कनैक्शन...

जब श्रीकृष्ण से मिलने आए भगवान शिव

पौराणिक कथाओं के मुताबिक, भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के समय सभी देवी-देवता वेश बदल उनसे धरती पर मिलने आए थे, जिसमें भगवान शिव भी शामिल थे। भगवान शिव श्रीकृष्ण से मिलने के लिए उत्सुक थे लेकिन उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि उपहार में क्या ले जाए।

PunjabKesari

भगवान शिव को कैसे आया बांसुरी का ख्याल?

काफी सोचने के बाद महादेव को ऋषि दधीचि की महाशक्तिशाली हड्डी का ख्याल आया। ऋषि दधीचि ने धर्म के लिए अपने शरीर और सभी हड्डियां दान कर दी थी, जिससे विश्कर्मा ने इंद्र के लिए व्रज, 3 धनुष पिनाक, गाण्डीव और शारंग का निर्माण किया।

महान ऋषि दधीचि की पवित्र हड्डी से तैयार हुई मनोहर बांसुरी

पौराणिक कथाओं के अनुसार, महादेव शिव को याद आया कि उनके पास ऋषि दधीचि की महाशक्तिशाली हड्डी पड़ी है। ऋषि दधीचि वही महान ऋषि है जिन्होंने धर्म के लिए अपने शरीर को त्याग दिया था। उन्होंने अपने शक्तिशाली शरीर की सभी हड्डियों को दान में दे दिया था। उन हड्डियों की सहायता से विश्कर्मा ने तीन धनुष पिनाक, गाण्डीव, शारंग तथा इंद्र के लिए व्रज का निर्माण किया था। महादेव शिवजी​ ने उस हड्डी को घिसकर एक सुन्दर एवं मनोहर बांसुरी का निर्माण किया था। जब महादेव भगवान श्री कृष्ण से मिलने गोकुल पंहुचे तो उन्होंने श्री कृष्ण को भेंट स्वरूप वह बांसुरी प्रदान की और उन्हें आशीर्वाद दिया तभी से भगवान श्री कृष्ण उस बांसुरी को अपने पास रखते हैं। 

PunjabKesari

राधा के प्रेम जितनी ही पवित्र है बांसुरी

इसमें कोई दोराय नहीं है कि श्रीकृष्ण का बांसुरी प्रेम राधा के प्रेम जितना ही पवित्र है। कान्हा की बांसुरी की मीठी धुन ना सिर्फ गोपियों को नाचने पर विवश कर देती है बल्कि इसे सुन पशु-पक्षी भी उनकी ओर चले आते हैं।

वास्तु में विशेष महत्व

भगवान श्रीकृष्ण की प्रिय बांसुरी को वास्तु शास्त्र में भी खास महत्व दिया गया है। माना जाता है कि घर में बांसुरी रखने से ना सिर्फ शांति का माहौल रहता है बल्कि इससे परिवार में एकता भी बढ़ती है। वहीं बेडरूम में बांसुरी रखने से पति-पत्नी के रिश्ते भी मजबूत होते हैं।

PunjabKesari

Related News