22 JULMONDAY2024 4:10:28 PM
Nari

इस दिशा में होना चाहिए बेडरुम, जानिए घर से जुड़े कुछ Vastu Rules

  • Edited By palak,
  • Updated: 29 Jan, 2023 02:57 PM
इस दिशा में होना चाहिए बेडरुम, जानिए घर से जुड़े कुछ Vastu Rules

वास्तु शास्त्र में दिशाओं का बहुत ही महत्व बताया गया है। इसके अनुसार, घर बनाना भी बहुत ही शुभ माना जाता है। यदि घर वास्तु के अनसुार, बना हो तो घर में पॉजिटिव एनर्जी के साथ-साथ सुख-समृद्धि का भी वास रहता है। इसके अलावा घर के सदस्यों को भी मानसिक शांति मिलती है। इस शास्त्र में घर के मुख्य द्वार से लेकर बेडरुम की कुछ दिशाएं बताई गई है। इन दिशाओं के अनुसार, घर बनाना बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में...

बाथरुम और किचन की दिशा 

किचन और बाथरुम घर की पश्चिम दिशा में होना शुभ माना जाता है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि किचन और टॉयलेट एक-दूसरे के सामने नहीं होने चाहिए। 

PunjabKesari

खिड़की और दरवाजे 

घर के खिड़की और दरवाजे उत्तर दिशा में होने शुभ माने जाते हैं। इसके अलावा घर की बालकनी, वॉश बेसिन भी इस दिशा में होना चाहिए। इसके अलावा घर का मुख्य द्वार भी उत्तर दिशा में होना शुभ माना जाता है। 

पूजास्थल की दिशा 

घर की उत्तर-पूर्व दिशा को ईशान कोण भी कहते हैं। इस दिशा को जल का स्थान भी माना जाता है। मान्यताओं के अनुसार, इस दिशा में बोरिंग, स्वीमिंग पूल, पूजा स्थल होना चाहिए। 

PunjabKesari

मेनगेट की दिशा 

पूर्व दिशा सूर्योदय की दिशा होती है। इस दिशा से पॉजिटिव और एनर्जेटिक किरणें घर में आती हैं। घर का मेनगेट इस दिशा में होना बहुत ही शुभ माना जाता है। यदि आप इस दिशा में मुख्य द्वार नहीं बनवा सकते तो खिड़की जरुर बनवाएं। 

मुखिया का कमरा 

दक्षिण-पश्चिम दिशा को नैऋत्य दिशा भी कहते हैं। वास्तु मान्यताओं के अनुसार, इस दिशा में खिड़की और दरवाजे नहीं होने चाहिए। आप चाहें तो यहां पर मुखिया का कमरा बनवा सकते हैं। 

PunjabKesari

बेडरुम, गैरेज, गौशाला 

उत्तर-पश्चिम दिशा जिसे वायव्य दिशा भी कहते हैं। आप इस दिशा में बेडरुम, गैरेज, गौशाला आदि बनवा सकते हैं। 


 

Related News