04 DECSATURDAY2021 1:34:12 PM
Nari

प्राइवेट पार्ट में क्यों होते हैं Pimples और कैसे करें इनका इलाज?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 19 Oct, 2021 12:24 PM
प्राइवेट पार्ट में क्यों होते हैं Pimples और कैसे करें इनका इलाज?

चेहरे के अलावा हाथ-पैर और शरीर के किसी भी हिस्से में पिंपल्स निकल सकते हैं। वहीं, वल्वल क्षेत्र में छिद्रों में गंदगी और अधिक तेल होने के कारण वैजाइना एरिया में भी पिंपल्स निकल सकते हैं, जो काफी दर्द भरे होते हैं। हालांकि इसमें घबराने की कोई बात नहीं है। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि वैजाइना में पिंपल्स होने के क्या कारण है और इनसे छुटकारा कैसे पाएं?

निकलते हैं प्राइवेट पार्ट में पिंपल्स?

तेल की ग्रंथियों में सीबम का स्तर बढ़ने के कारण पिंपल हो सकते हैं। इसके अलावाडेड स्किन, बैक्टीरीया इंफेक्शन, पीरियड्स या प्रैगनेंसी के दौरान होने वाले हार्मोनल बदलाव भी मुंहासों का कारण बन सकते हैं।

PunjabKesari

इन कारणों से भी हो सकते हैं पिंपल्स...

इनग्रोइंग बाल

वैक्सिंग, शेविंग या इलेक्ट्रोलीज के बाद त्वचा के पोर्स में छोटे-छोटे बाल रह जाते हैं, जिनकी ग्रोथ पूरी तरह से नहीं हो पाती, उसे इनग्रोन हेयर (Ingrown Hair) कहा जाता है। आमतौर पर इनसे परेशान होने की कोई जरूरत नहीं।

फॉलिकुलिटिस (Folliculitis)

त्वचा के रोमछिद्रों में गंदगी जमा होने के कारण फुंसी होती है। वहीं, फॉलिकुलिटिस तब होता है जब बालों के रोम में पसीने या क्षेत्र में मौजूद बैक्टीरिया के कारण संक्रमण फैलाते हैं।

रेजर बर्न

बिना शेविंग क्रीम रेजर का इस्तेमाल करने से लाल रंग के मुंहासे हो सकते हैं, जो आमतौर पर गुच्छों में दिखाई देते हैं और उनमें काफी खुजली हो सकती है। ऐसे में पिंपल्स दूर करने के लिए एलोवेरा जेल मॉइस्चराइजिंग क्रीम का यूज करें। साथ ही नारियल तेल या शेविंग क्रीम के इस्तेमाल से रेजर बर्न से बचा जा सकता है।

PunjabKesari

गलत चीजों का इस्तेमाल

मलहम, पाउडर, सुगंधित साबुन, कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट, औषधीय मलहम या जैल के कारण त्वचा की एलर्जी योनि में मुंहासे का कारण बन सकती है।

अब जब आप जान गए हैं कि योनि पर फुंसी का क्या कारण है... यहां जाने कि आप उनसे कैसे निपट सकते हैं...

. उन्हें पॉप न करें क्योंकि इससे संक्रमण आसपास के क्षेत्रों में फैला सकता है।
. ढीले कपड़े पहनने की कोशिश करें और बिस्तर पर जाते समय टाइट कपड़े पहनने से बचें।
. एक साफ कपड़े को गर्म पानी में भिगोकर लगभग 10 मिनट के लिए मुंहासों के ऊपर रखें। ऐसा दिन में कम से कम तीन बार करें।
. पेट्रोलियम जेली लगाएं।
. अगर दाना फट जाए तो डॉक्टर के परामर्श से जीवाणुरोधी मलहम लगाएं।
. 1 लीटर पानी में 3 बड़े चम्मच सेब का सिरका मिलाकर योनि की सफाई करें।
. कॉटन पैंटी पहनें। यह न केवल पहनने में आरामदायक होती है, बल्कि प्राइवेट पार्ट को ड्राई भी रखती है।

PunjabKesari

ज्यादातर मुंहासे एक या दो सप्ताह में ठीक हो जाते हैं। अगर ऐसा ना हो तो तुरंत चेकअप करवाएं क्योंकि यह हर्पीज जैसे यौन संचारित रोगों का कारण बन सकता है।

Related News