23 OCTFRIDAY2020 5:11:39 PM
Nari

आपके बच्चों की आपस में कैसे ही है बॉन्डिंग यूं जाने पैरेंट्स

  • Edited By neetu,
  • Updated: 17 Aug, 2020 01:47 PM
आपके बच्चों की आपस में कैसे ही है बॉन्डिंग यूं जाने पैरेंट्स

हर मां- बाप अपने बच्चों को हमेशा एक साथ प्यार भरा रिश्ता निभाते हुए देखना चाहते हैं। ऐसे में बच्चों में बचपन से तालमेल बनाना बहुत जरूरी होता है। तभी वे अपने रिश्ते को प्यार और खूबसूरती के साथ निभा सकते हैं। ऐसे बहुत से बच्चे होते हैं जिनमें बचपन में तो बहुत अच्छी बान्डिंग होती है। मगर उम्र बढ़ने के साथ-साथ उनका प्यार कम होने लगता है। भाई- बहन ही एक-दूसरे के कब प्रतिस्पर्धी बन जाते हैं, इसका बात का पता भी नहीं चलता है। बात अगर मां-बाप की करें तो वो हमेशा के लिए अपने बच्चों के साथ नहीं रहेंगे। ऐसे में अगर आपको इस बात का यकीन हो जाए कि आपके बच्चे आपस में प्यार करते हैं उनमें अच्छी बान्डिंग है तो ये आपके लिए राहत भरी बात होगी। तो चलिए आज हम आपको 5 ऐसे संकेत बताते हैं। ऐसे में अगर आप अपने बच्चों में भी ये संकेत पाते हैं तो समझ जाएं कि आपके बच्चों का रिश्ता लंबे समय तक चलेगा। 

लड़ने पर भी गुस्सा भूल जाना

घर पर बच्चों का लड़ना- झगड़ा आम बात होती है। मगर आपके बच्चे एक-दूसरे से लड़ने के कुछ देर बाद ही एक साथ दोबारा बात करने और खेलने लगते हैं तो ऐेसे में समझ जाएं कि आपके बच्चों की बान्डिंग काफी अच्छी है। इसका मतलब यह एक कि चाहे किसी बात से वे एक-दूसरे से लड़ रहें हैं मगर उनके मन में एक-दूसरे के लिए प्यार है। 

nari,PunjabKesari

एक-दूसरे के बिना नहीं रह सकते 

कुछ बच्चे ऐेसे होते हैं जो अपने भाई-बहन की जगह पेरेट्स की कंपनी पसंद करते हैं। मगर कुछ ऐसे भी होते है जो अपने भाई- बहन के बिना बिल्कुल भ नहीं रह सकते हैं। ऐसे में बच्चे एक- दूसरे के बिना दुखी और अकेलापन महसूस करते है। ऐसे में अगर आपके बच्चे भी एक- दूसरे के बिना बोर हो जाते हैं तो इसका मतलब वे दोनों एक-दूसरे के साथ दिल से कनेक्ट है। इसी लिए इन्हें हर हाल में एक-दूसरे का साथ चाहिए होता है।

एक-दूसरे की मदद करना

वैसे तो भाई- बहनोें में उम्र का अंतर होता है। मगर फिर वे हम उम्र कहलाते हैं। बहुत बार पेरेंट्स हर समय अपने बच्चों के साथ न होने से उनका हर सिचुएशन में साथ नहीं दे पाते हैं। ऐेसे में अगर इस परिस्थिति में आपके बच्चे एक-दूसरे की जरूरतों को समझते और उनका ख्याल रखते हैं। जरूरत होने पर एक-दूसरे की मदद करते और साथ देते हैं तो ये इस बात की ओर इशारा करते हैं कि आपके बच्चे एक-दूसरे के साथ काफी हद तक घुल-मिल गए है। ऐसे में उनमें अच्छी बॉन्डिंग होने से वे एक-दूसरे की भावनाओं और जरूरत को समझ कर हर समय मदद के लिए तैयार रहते है। 

nari,PunjabKesari

एक साथ बीताते हैं काफी समय 

अगर आपके बच्चों में भी 3-4 साल का अंतर होने के बाद भी वे आपस में खेलते हैं। हर जगह एक साथ जाते हैं। उन्हें एक-दूसरे के साथ घूमना- फिरना, सेर करना, ज्यादा से ज्यादा से टाइम बिताना अच्छा लगता है तो उनकी ये बातें उनमें अच्छी बॉन्डिंग होने की ओर इशारा करता है। 

अपनी चीजों को बांटना

बहुत से बच्चों को अपनी चीजों को किसी के साथ शेयर करना बिल्कुल भी पसंद होता है। असल में, बच्चे बेहद चंचल स्वभाव के होने से कभी-कभी अपनी खाने- पीने या जरूरतों की चीजों को लेकर थोड़े स्वार्थी बन जाते है। मगर इस पर आपके बच्चे अगर कोई चीज मिलने पर उसे अपने भाई या बहन के लिए बचा कर रखते हैं। उनके साथ चीजों तो शेयर करते हैं तो इसका मतलब इनकी बान्डिंग काफी अच्छी है। ऐेसे में वे एक-दूसरे के साथ प्यार भरा रिश्ता निभाते हैं। 

ध्यान दें, ऊपर बताए इन संकेतों से पता चलता है कि आपके बच्चों में आपस में अच्छी बॉन्डिंग है। मगर बच्चों में ये गुण आने का सारा श्रेय पेरेंट्स को जाता है। पेरेंट्स ही अपनी परवरिश और देखभाल से उनमें एक अच्छी बॉन्डिंग बना सकते हैं। 

Related News