04 MARTHURSDAY2021 4:22:15 PM
Nari

उम्र तो महज अंक है! 94 साल की हरभजन कौर चला रही बिजनेस, 'बेसन की बर्फी' बेच बनीं लाखों की प्रेरणा

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 21 Feb, 2021 01:38 PM
उम्र तो महज अंक है! 94 साल की हरभजन कौर चला रही बिजनेस, 'बेसन की बर्फी' बेच बनीं लाखों की प्रेरणा

किसी काम को शुरू करने के लिए उम्र बेशक मायने नहीं रखती है लेकिन किसी नए काम को शुरू करने पर सब के जहन में यह बात तो जरूर आती है कि इस उम्र में ये काम करेंगे तो लोग क्या कहेंगे? लेकिन जो लोग इन उम्र की बेड़ियों को तोड़ देते हैं वही समाज में अपनी अलग पहचान बनाते हैं। आज हम आपको एक ऐसी ही महिला की कहानी बताने जा रहे हैं जिन्हें सुनकर आप भी अपने अधूरे सपने को पूरे करने की राह पर चल पड़ेंगे। 

94 साल की हरभजन कौर बनी सब के लिए मिसाल 

PunjabKesari

स्टार्ट अप शब्द सुनते ही आपके मन में एक ही ख्याल आएगा कि इसे तो बस यंग जनरेशन ही शुरू कर सकती है। आपने अपने आस-पास भी ऐसा कम ही देखा होगा जहां 90 साल की उम्र में आकर लोग अपने अधूरे सपनों को पूरा करते हैं लेकिन 94 साल की हरभजन तो हर किसी के लिए मिसाल है। अकसर ऐसा भी देखा जाता है कि उम्र के एक पड़ाव पर आकर हमारे अंदर नया सीखने की चाह खत्म हो जाती है लेकिन हरभजन कौर आज भी यही मानती हैं कि उन्हें जिंदगी में बहुत कुछ सीखना है। 

बेचती हैं 'बेसन की बर्फ़ी' 

दरअसल 94 साल की हरभजन कौर ने आज से 4 साल पहले  चंडीगढ़ में बेसन की बर्फी के लिए एक स्टार्ट अप शुरू किया था। अपने हाथों से बनाई गई इस ऑर्गेनिक बर्फी को लोग खूब पसंद करते हैं। बता दें कि वह 'हरभजन' नाम से अपना एक ब्रांड चलाती हैं। उद्यमी क्षेत्र में शायद ही ऐसा पहली बार हुआ होगा जब किसी इतनी उम्र वाले ने खुद का स्टार्ट अप शुरू किया होगा। 

हरभजन कौर को पूरी जिंदगी रहा एक अफसोस 

PunjabKesari

सपनें पूरे करने की कोई उम्र नहीं होती है। यह तो हरभजन कौर ने हमें बखूबी बता दिया है। लेकिन कईं बार हम जिंदगी में बहुत कुछ पाना चाहते होते हैं लेकिन स्थिती ऐसी बन जाती है कि हमें वो चीज नहीं मिल पाती है। ऐसे में दुखी होना और उदास होने से अच्छा है कि आप एक सही समय देखकर जिंदगी का वो अधूरा सपना पूरा कर लें। हरभजन कौर को भी जिंदगी में हमेशा से एक ही अफसोस रहा और वह था कि उन्होंने अपनी जिंदगी में अपनी मेहनत से एक भी पैसा नहीं कमाया है। 

बेटी ने किया प्रोत्साहित 

मां के यह शब्द बेटी के सीने पर जा लगे। ऐसे में हरभजन कौरी की बेटी ने मां को प्रोत्साहित किया कि वह अपना काम शुरू करें। ऐसा इसलिए क्योंकि उनके घर पर कभी भी बाजार का सामान नहीं आता था। हरभजन घर पर ही सब कुछ तैयार करती थी। बर्फी से लेकर शरबत तक ऐसे में बेटी ने मां को इस काम में आगे बढ़ने के लिए और हिम्मत दी। 

पहली कमाई में मिले 2 हजार रूपए 

बता दें कि हरभजन कौर ऑर्गेनिक चीजों से ही बर्फी को बनाती है। बेटी की मानें तो जब वह मां की बर्फी बाजार बेचने गई तो देखते ही देखते सभी बिक गईं और उस वक्त हरभजन कौर को पहली कमाई 2 हजार रूपए मिली थी। अपनी पहली कमाई देखकर हरभजन की आंखों में भी वो खुशी थी जिन्हें वो देखना चाहती थी। 

आनंद महिंद्रा ने भी की तारीफ 

 नामी बिज़नेसमैन आनंद महिंद्रा ने भी हरभजन कौर की तारीफ करते हुए उनकी वीडियो अपने ट्वीटर पर शेयर की है। ये देखिए आनंद महिंद्रा का वो ट्वीट। 

PunjabKesari

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी कर चुके हैं तारीफ 

हरभजन कौर की तारीफ तो पंजाब के सीएम कैप्टन भी कर चुके हैं उन्होंने उनकी तस्वीर शेयर करते हुए इसके साथ कैप्शन लिखा ,'स्टार्ट अप शब्द अब सिर्फ करोड़पति लोगों से जुड़कर नहीं रह गया है। चंडीगढ़ की 94 साल की हरभजन कौर अब लोगों के लिए मिसाल बन गई हैं। मैं आनंद महिंद्रा की इस बात से सहमत हूं कि उन्हें इस बार आंत्रप्रेन्योर ऑफ द ईयर के रूप में सम्मानित किया जाए। मुझे आपकी सिग्नेचर बेसन बर्फी का स्वाद चखने का बेसब्री से इंतजार है।'

वाकई आज हरभजन कौर उन सभी के लिए किसी मिसाल से कम नहीं है जो उम्र के बंधनों में बंध कर खुद के सपनों को पूरा नहीं करते हैं। 

Related News