14 MAYFRIDAY2021 11:39:36 AM
Nari

हर देश में रमजान मनाने का तरीका अलग, जानिए अनोखी परंपराएं

  • Edited By neetu,
  • Updated: 18 Apr, 2021 04:56 PM
हर देश में रमजान मनाने का तरीका अलग, जानिए अनोखी परंपराएं

रमजान का पाक महीना चल रहा है। यह मुसलमानों द्वारा मनाएं जाने वाली पवित्र महीना है। इस पूरे महीने में लोग रोजा रखते हैं। साथ ही अपना पूरा दिन नमाज पढ़ने व अल्लाह की इबादत करने में बिताते हैं। साथ ही दुनियाभर के अलग-अलग देशों में इस दौरान कुछ खास परंपराएं निभाई जाती है। तो चलिए आज हम आपको अलग-अलग देशों में रमजान के महीना मनाने का तरीका बताते हैं...

भारत 

भारत में रमजान के महीने पर बाजारों में खूब रौनक देखने को मिलती है। बड़ों से लेकर बच्चों तक हर कोई खुदा की इबादत में डूबा दिखाई देता है। कहा जाता है कि यहां पर कई मुस्लिम इलाकों पर दिन के समय होटल को बंद होते हैं। मस्जिदों में नमाज पढ़ने वालों की संख्या बहुत बढ़ जाती है। लोग एक-दूसरे को सहरी व इफ्तार की दावत देते हैं।बहुत से लोग एक-दूसरे व खासतौर पर बच्चों को उपहार भी देते हैं। 

PunjabKesari

PunjabKesari

पाकिस्तान 

बात भारत के पड़ौसी देश की करें तो रमजान के पूरे महीने में पाकिस्तान में होटल व खाने-पीने की सभी दुकाने बंद रहती है। इसके साथ लोग इस समय में टी.वी भी नहीं देखते हैं। वे अपना सारा समय अल्लाह की इबादत में बिताते हैं। बाजार व दुकानें खूब सजाई जाती है। मगर बाजार रात से सुबह सेहरी के समय खोला जाता है। 

PunjabKesari

PunjabKesari

ईराक

ईराक में रमजान और ईद के मौके पर खजूर से बनी कलैचा पारम्परिक स्वीट डिश खाने की परंपरा है। इसे लोग खासतौर पर घर पर बनाकर खाते हैं। यह एक तरह की कुकीज है, जिसमें ड्राई फ्रूट्स व खजूर की स्टफिंग भरी जाती है। 

PunjabKesari

ट्यूनीशिया

कहा जाता है कि यहां पर लोग रात को दूरबीन की मदद से चांद का दीदार करते हैं। 

PunjabKesari

इंडोनेशिया

इंडोनेशिया में रमजान के पाक महीने में बार व नाइट क्लब पूरे तरह से बंद किए जाते हैं। इसके अलावा होटल में दिन के दौरान पर्दे लगाए जाते हैं। ताकि रेस्टोरेंट में भोजन करने आने वाले का चेहरा छुप जाएं। मगर अब यह नियम बदल गया है। 

PunjabKesari

मिस्र

मिस्र में रमजान के महीने में लालटेन जलाने की परंपरा निभाई जाती है। यह 'फानूस' नाम से जाना जाता है। उसे इफ्तार की मेज, खिड़की या बालकनी में लटकाया जाता है। 

PunjabKesari
 

Related News