31 OCTSATURDAY2020 10:47:34 AM
Nari

वर्जिन और रेगुलर Coconut Oil में जानिए फर्क, सेहत के लिए कौन- सा बेस्ट

  • Edited By neetu,
  • Updated: 12 Oct, 2020 05:13 PM
वर्जिन और रेगुलर Coconut Oil में जानिए फर्क, सेहत के लिए कौन- सा बेस्ट

भारतीय रसोई में खाना बनाने के लिए अलग- अलग तेल का इस्तेमाल किया जाता है।  मगर बात हम नारियल तेल की करें तो इसके लिए बाजार में बहुत से ऑप्शन मिलते हैं। यह मुख्य रूप से रेगुलर, रिफाइंड और वर्जिन ऑयल पाया जाता है। मगर बहुत से लोगों को इनमें पाए जाने वाले अंतर के बारे में पता न होने के कारण वे इस बात से अनजान रहते हैं कि सेहत के लिए कौन- सा तेल फायदेमंद होता है। तो चलिए आज हम आपको इनके बीच का फर्क समझाते हुए बताते हैं कि इनमें से कौन- सा ऑयल सेहत के लिए बेस्ट माना जाता है...

रेगुलर और रिफाइंड कोकोनट ऑयल तैयार बनाने का तरीका

इन दोनों तरह के तेल को अलग- अलग तरीकों से निकाला जाता है। रेगुलर नारियल के तेल को निकालने के लिए सूखे हुए नारियल का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं दूसरी ओर यह रिफाइंड ऑयल बनाने में कलर, सुगंध आदि बरकरार रखने के लिए इसे केमिकल से ब्लीच कर या आर्टिफिशियल चीजों की मिलावट की जाती है। साथ ही इसे गर्म किया जाता है। ऐसे में इसमें मौजूद पोषक तत्वों में कमी आती है। 

nari,PunjabKesari

वर्जिन कोकोनट ऑयल बनाने का तरीका

इस तरीके के तेल को निकालने के लिए कोल्ड प्रेस्ड तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में इसतरह तेल के पाए जाने वाले विटामिन्स, मिनरल्स, एंटी-  ऑक्सीडेंट, एंटी- वायरल आदि पौषक गुणों को कोई कमी नहीं आती है। खाने में ज्यादा शुद्ध व हैल्दी होने के चलते यह तेल रिफाइंड की तुलना में महंगा मिलता है। साथ ही यह जल्दी खराब भी हो जाता है। 

तो चलिए अब बात करते हैं रेगुलर और वर्जिन कोकोनट ऑयल में अंतर 

अब दोनों तरह के कोकोनेट ऑयल तैयार होने के तरीकों से साफ पता चल ही गया होगा कि सेहत के लिए कौन- सा तेल फायदेमंद है। 

- रेगुलर और रिफाइंड कोकोनट ऑयल हीट प्रोसेस के साथ तैयार होता है। इसके विपरीत वर्जिन ऑयल कोल्ड प्रोसेस से। ऐसे में वर्जिन ऑयल में पौषक गुण बरकरार रहते हैं। इसतरह इससे तैयार भोजन खाना शरीर के लिए फायदेमंद होता है। 

- रेगुलर ऑयल में फैट व कैलोरी की मात्रा अधिक होने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ता है। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से दिल से जुड़ी  बीमारियों के लगने का खतरा बढ़ता है। इसके विपरित वर्जिन ऑयल में सभी पोषक तत्व सही मात्रा में होने से यह ज्यादा फायदेमंद है। साथ ही फैट की मात्रा कम और फैटी एसिड्स अधिक होने से यह कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम कर दिल स्वस्थ रखता है। 

- रेगुलर ऑयल में केमिकल्स से ब्लीच होता है। मगर वर्जिन ऑयल नेचुरल तरीके से तैयार किया जाता है। 

- रेगुलर में स्वाद और सुंगध को बढ़ाने के लिए आर्टिफिशियल सेंट का इस्तेमाल किया जाता है। मगर वर्जिन ऑयल को तैयार करने में ऐसा कोई चीज इस्तेमाल नहीं की जाती है। 

nari,PunjabKesari

इसतरह नेचुरल तरीके से तैयार कोकोनट ऑयल का सेहत के लिए फायदेमंद माना जाएगा। तो चलिए हम आपको बताते हैं वर्जिन ऑयल के फायदों के बारे में...

1. इसमें फैट की मात्रा कम होने से शरीर में जमा एकस्ट्रा चर्बी को कम करने में मदद मिलती है। 
2. इसके सेवन से पाचन तंत्र मजबूत हो पेट से जुड़ी समस्याओं से राहत मिलती है। 
3. यह शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम कर गुड़ कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। 
4. भारी मात्रा में पोषक तत्वों से  भरपूर होने से शरीर को सभी उचित विटामिन्स व मिनरल्समिल जाते हैं। 
5. जिन लोगों को स्किन एलर्जी जैसे कि एक्जिमा, सोरायसिस की परेशानी होती है। उनके लिए इस तेल का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। 
6. यह ब्रेन सेल्स को बूस्ट कर अल्जाइमर होने के खतरे से बचाव करता है। 
7.  इसमें विटामिन- ई की मात्रा अधिक होने से आंखों की रोशनी बढ़ने में भी मदद मिलती है। 
8. थॉयरॉइड की समस्या से जुझ रहे लोगों को अपनी डाइट में वर्जि न कोकोनट ऑयल जरूर शामिल करना चाहिए। 

Related News