20 JUNSUNDAY2021 9:10:57 PM
Nari

जन्मों का बंधन, पवित्र बंधन- 102 साल के पति ने अपनी 101 साल की पत्नी के साथ मनाई 84वीं सालगिरह

  • Edited By Anu Malhotra,
  • Updated: 08 May, 2021 04:41 PM
जन्मों का बंधन, पवित्र बंधन- 102 साल के पति ने अपनी 101 साल की पत्नी के साथ मनाई 84वीं सालगिरह

शादी को कामयाब और इस रिश्ते को मज़बूत रखने के लिए प्यार बेहद ज़रूरी है। एक व्यक्‍ति चाहता है कि उसका जीवन-साथी लगातार उसे प्यार दे, उसकी परवाह करें और उसका सम्मान करें, लेकिन वक्‍त के गुज़रते और परिवार की जिम्मेदारियों के चलते कई बार पति-पत्नी प्यार जताना कम कर देते हैं। लेकिन केरल के रहने वाले 102 वर्षीय माधवन नायर और 101 वर्षीय मीनाक्षी अम्मा में आज भी पहले की तरह प्यार और एक दूसरे के प्रति सम्मान कायम है। 

दरअसल, केरल के रहने वाले 102 वर्षीय माधवन नायर और 101 वर्षीय मीनाक्षी अम्मा आज एक साथ अपनी 84 वीं सालगिरह मना रहे हैं। केरल के कोट्टायम जिले में रहने वाले माधवन नायर जो कांग्रेस पार्टी के एक सक्रिय सदस्य हुआ करते थे वह आज भी पत्नी मीनाक्षी अम्मा संग 'खुशी के साथ' अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं।


PunjabKesari

एक इंटरव्यू के दौरान माधवन नायर और मीनाक्षी अम्मा ने अपनी प्रेम कहानी को बताया। उन्होंने बताया कि वह दोनों 8 साल की उम्र में पहली बार स्कूल में मिले थे, लेकिन उन्हें नहीं पता था कि वह आने वाली जिदंगी में इतने लंबे समय तक एक साथ रहेंगे। इसके बाद कुछ सालों तक वह एक ही स्कूल में पढ़ने के बाद दोनों अलग-अलग स्कूलों में चले गए। 


एक साथ में हुए जवान और अब बुढ़े
माधवन नायर और मीनाक्षी अम्मा ने कई बार अपने बच्चों के साथ अपनी लव स्टोरी को शेयर किया। उन्होंने बताया कि बेहद कम उम्र से एक-दूसरे को जानने के बाद हमारी अरेंज मैरिज हुई न कि लव मैरिज। इस दंपति के पांच बच्चे हैं, जोकि केरल के कोट्टायम में रहते हैं।


PunjabKesari
 

उन्होंने बताया कि, यह सच है कि हम एक-दूसरे को स्कूल से जानते थे। हमने एक-दूसरे को देखा था, लेकिन ज्यादा बात नहीं की थी। उस उम्र में हम एक-दूसरे से क्या बात करते? और सालों बाद, हमारे परिवार वालों ने हमारी शादी करवाने का फैसला किया। शादी के बारे में उन्होंने बताया कि हमारी शादी आज के दौर की तरह किसी बड़े फंक्शन की तरह नहीं, ब्लकि बेहद साधारण ढंग से हुई थी। 
 

माधवन नायर ने बताया कि वह लंबे समय से पार्टी और सामाजिक कार्यों में शामिल थे, जिस वजह से वह ज्यादा समय परिवार को नहीं दे पाते थे। लेकिन अब वह अपनी उम्र के अंतिम पड़ाव में पत्नी के साथ समय बिताना पसंद करते हैं। 
 

Related News