28 JUNTUESDAY2022 11:39:59 AM
Nari

Women's Day 2021: सास के साथ ने दिया उड़ने का हौंसला, आज घर-घर मशहूर पंकज के खाने का स्वाद

  • Edited By neetu,
  • Updated: 05 Mar, 2021 12:20 PM
Women's Day 2021: सास के साथ ने दिया उड़ने का हौंसला, आज घर-घर मशहूर पंकज के खाने का स्वाद

कहते हैं दुनिया में कोई भी काम नामुकिन नहीं होता है। असल में, मेहनत व फैमिली का साथ किसी भी राह में सफलता दिलाने का काम करता है। बात अगर महिलाओं कि करें तो आज की औरत हर क्षेत्र सफलता पा रही है। घर हो या ऑफिस वे अपनी मेहनत व लगन से जीत हासिल करके ऊंचाइयों के शिखर को छू रही है। इसलिए महिलाओं को सम्मान देने व उनकी जीत के लिए प्रेरित करने के लिए हर साल 8 मार्च को 'Women's Day' मनाया जाता है। साथ ही जहां लोग कहते हैं कि सास व बहू का रिश्ता कभी मां-बेटी जैसा नहीं हो सकता है। इस बात को नकारते हुए आज हम आपको 'वुमन डे' के खास मौके पर मास्टर शेफ की पहली विजेता पंकज भदौरिया के बारे में बताते हैं, जिन्हें इस खिताब को हासिल करने के लिए उनकी सास ने ही प्रेरित किया था। तो चलिए जानते हैं पंकज भदौरिया के बारे में...

सास ने किया मास्टर शेफ बनने के लिए प्रेरित 

असल में, पंकज टीचिंग करियर से जुड़ी थी। मास्टर शेफ का पहला राउंड पार करने के बाद उन्हें दूसरे राउंड में जाने के लिए स्कूल से छुट्टी नहीं मिली थी। ऐसे में इस मुश्किल समय में उनकी सास ने उन्हें फैसला लेने के लिए प्रेरित किया। उनकी सासू मां ने ही उन्हें स्कूल की नौकरी छोड़ कर जिंदगी में आगे बढ़ने की सलाह दी थी। इस तरह वे अपने 16 साल के टीचिंग करियर को पीछे छोड़ कर मास्टर शेफ बनने के लिए मेहनत करने लगी। आखिर मास्टर शेफ की ट्रॉफी जीत कर ही मानी। 

PunjabKesari

मास्टर शेफ बनने के लिए की कड़ी मेहनत 

उन्होंने कुकिंग सीखने के लिए बहुत सी कुकरी बुक्स खरीदीं। फिर नई और अलग-अलग डिशेज बनाई। इसके अलावा उन्होंने करीब 1 साल का आईएसएम का फूड प्रिजरवेशन कोर्स भी कंप्लीट किया था।

मास्टर शेफ सीजन 1 की विजेता

पंकज भदौरिया ने 2010 में स्टार प्लस में आने वाले मास्टर शेफ शो का पहला जीता था। उन्होंने इंडिया के पहले कुकिंग टीवी रिएलिटी शो सिर्फ हिस्सा ही नहीं लिया बल्कि इसमें सफलता भी हासिल की थी।  

PunjabKesari

चलाती है खुद का यूट्यूब चैनल 

पंकज कुकिंग पसंद करने वालों के लिए खुद का यूट्यूब चैनल चलाती है। ऐसे में वे अपने शो में नई व ईजी रेसिपी सीखाती है।

किसी भी डिश का टेस्ट रखता है मायने

साथ ही खाना बनाने के मामले में पंकज का कहना है कि, 'खाने में सिर्फ टेस्ट मायने रखता है। अगर आपकी डिश टेस्टी नहीं हुई तो समझो की खेल खत्म।' ऐसे में इसे हम उनकी सफलता का मूल मंत्र भी समझ सकते हैं। 

कई कुकरी शो किए होस्ट

मास्टर शेफ की ट्रॉफी अपने नाम करने के बाद इन्होंने कई कुकरी शो किए। उन्होंने पंकज का जायका, किफायती किचन, कोर्स विद पंकज, रसोई से पंकज भदौरिया जैसे कई टीवी शो होस्ट किए है। साथ ही उन्होंने 4 रेसिपी बुक भी लिखी। वे लखनऊ में अपना कुकरी इंस्टीट्यूट चलाने के साथ देश विदेश में ट्रेनिंग देने भी जाती हैं। 

PunjabKesari

5 कुकबुक्स भी रही पॉपुलर

इन्होंने 5 कुक बुक्स भी लिखी है। बात इनकी बुक्स करें तो उन्होंने मास्टर शेफ का खिताब अपने नाम करने के बाद Master Chef India Cookbook' लिखी जो असल में मास्टरशेफ की ऑफिशियल कुकबुक थी। फिर उन्होंने बच्चों के लिए Barbie- I am a Chef ', लिखी। उसके बाद चिकन की 54 तरह की रेसिपीज बताते हुए 'Chicken from my Kitchen' लिखी। एक बुक पकंज ने -'The Secret’s in the Spice Mix' के नाम से मसालों पर लिखी। ताकि जो लोग शुरुआत से कुकिंग सीखना चाहते हैं। उन्हें मसालों की अच्छे से पहचान हो सके। इसेक अलावा उन्होंने यूपी सरकार के लिए Uttar Pradesh- a Cultural Kaleidoscope नाम की बुक लिखी। ऐसे में उनकी ये बुक्स लोगों द्वारा खूब फेमस हुई। 

इसतरह पंकज भदौरिया ने समाज ने अपनी एक अलग पहचान बनाकर कई महिलाओं की रोल मॉडल बनी। साथ ही जहां बहुत से लोग सोचते हैं कि एक औरत दूसरी औरत का भी साथ नहीं देती है। इस बात को उनकी सास ने जुठला कर साबित किया कि सम आने पर एक औरत ही दूसरी औरत की ताकत बन सकती है। 

Related News