23 JULTUESDAY2019 5:13:32 AM
Nari

दवाइयों से नहीं, डाइट में ये 6 चीजें खाकर बढ़ाएं Red Blood सेल्स

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 08 Jul, 2019 12:24 PM
दवाइयों से नहीं, डाइट में ये 6 चीजें खाकर बढ़ाएं Red Blood सेल्स

सेहतमंद रहने के लिए शरीर में खून की सही मात्रा होना बहुत जरूरी है। शरीर में दो रक्त कोशिकाएं होती हैं लाल और सफेद। लाल रक्त कोशिकाएं कम होने पर शरीर में खून की कमी हो जाती है, जिसे एनीमिया भी कहते हैं। पुरुषों के मुकाबले, भारतीय महिलाओं में यह समस्या अधिक देखने को मिलती है। इतना ही नहीं, 30 के बाद महिलाओं में यह समस्या अधिक देखने को मिलती है, जिसका कारण काफी हद तक उनकी गलत खान-पान भी है। चलिए आज हम आपको इस बीमारी के कुछ कारण और लक्षण बताते हैं, जिससे आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं।

 

70% भारतीय महिलाएं है इसकी शिकार

स्टडी के मुताबिक, भारतीय लोगों में खून की कमी ज्यादा पाई जाती है, जिसमें 70% संख्या महिलाओं की होती है। वहीं लगभग 57.8% गर्भवती महिलाएं एनीमिया से पीड़ित रहती हैं। इनमें से 7 में से एक महिला ऐसी होती है, जिसमें हीमोग्लोबिन की मात्रा 7 ग्राम/डीएल है। एक स्वस्थ महिला के शरीर में हीमोग्लोबिन का सामान्य स्तर 11-12 ग्राम/डीएल होना चाहिए। अगर यह स्तर 9-7 ग्राम/डीएल हो तो यह माइल्ड एनीमिया होता है।

PunjabKesari

लक्षण

वैसे तो 3 डी रेंडर मैग्नीफाई ग्लास (Magnifying Glass) के जरिए इसकी कमी का पता लगाया जा सकता है लेकिन आप कुछ लक्षणों से भी इसका पता लगा सकते हैं जैसे -

-अधिक थकान होना
-सांस लेने में परेशानी
-सिर चकराना
-धड़कने तेज होना
-जी घबराना
-चेहरे व पैरों पर सूजन
-आंखों के सामने अंधेरा छाना

PunjabKesari

कैसे करें कमी को पूरा?

लाल रक्त कोशिकाओं की गिनती पूरी करने के लिए सबसे जरूरी है उचित डाइट लेना। इसके  लिए आप अपनी डाइट में आयरन, विटामिन्स जैसे जरूरी पोषक तत्वों को शामिल करें। चलिए आपको बताते हैं कि इसकी कमी को पूरा करने के लिए डाइट में कौन से तत्व होने जरूरी है और उसके लिए क्या खाएं।

आयरन

एनीमिया की शिकायत दूर करने के लिए सबसे जरूरी है कि आप आयरन से भरपूर डाइट लें। यह रक्त कोशिकाओं में ऑक्सीजन को इकट्ठा करके हीमग्नोबिन बनाने में मदद करता है। इसके लिए डाइट में शेलफिश (Shellfish), पालक, टूना, टोफू, चिकन, सफेद सेम, मसूर की दाल, केल (Kale), ब्रोकली, चुकंदर, अनार, बेरीज, खजूर, अंजीर, बादाम, अखरोट, पाइन नट्स, तिल, कद्दू के बीज और अलसी के बीज आदि शामिल करें।

PunjabKesari

विटामिन बी-12

विटामिन बी-12 युक्त फूड्स का सेवन भी रैड ब्लड सेल्स काउंट बढ़ाने में मदद करता है। इसके लिए आप बादाम, सोया मिल्क, रैड मीट, मछली, शेलफिश (Shellfish), डेयरी उत्पाद और नट्स मिल्क का सेवन करें।

विटामिन बी -9

विटामिन बी -9 को फोलिक एसिड या फोलेट के रूप में भी जाना जाता है। यह नर्वस सिस्टम और अधिवृक्क ग्रंथियों (Adrenal Glands) में नई कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है। साथ ही इससे एनीमिया की शिकायत भी दूर होती है। इसके लिए मसूर की दाल, सफेद चने, एस्परैगस, पालक
समृद्ध ब्रेड और अनाज को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं।

PunjabKesari

विटामिन-सी

विटामिन सी लाल रक्त कोशिकाओं को सीधे प्रभावित नहीं करता है लेकिन यह आयरन को अवशोषित करता है, जिससे एनीमिया की शिकायत दूर होती है। इसके लिए आप कीवी फल, मीठी लाल मिर्च, स्ट्रॉबेरीज, संतरे और अंगूर का रस ले सकते हैं।

विटामिन ए

रेटिनॉल, जिसे आमतौर पर विटामिन ए के रूप में जाना जाता है, रैड ब्लड सेल्स काउंट बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही यह आयरन को अवशोषित करने में भी मदद करता है। इसके लिए आप बीफ लिवर (beef liver), शकरकंद, गाजर, कॉड लिवर तेल, केल (Kale), कोलार्ड, पालक और आम का सेवन कर सकते हैं।

कॉपर

कॉपर यानि तांबा एक आवश्यक खनिज है जो शरीर को रक्तप्रवाह में आयरन का उपयोग करने में मदद करता है। अगर शरीर में इसकी उचित मात्रा ना हो तो आयरन को अवशोषित करनी मुश्किल हो सकता है, जिससे रैड ब्लड सेल्स काउंट कम होने लगता है। ऐसे में डाइट में बीफ लिवर (beef liver), शेलफिश (Shellfish), काजू, सूरजमुखी के बीज और मसूर की दाल शामिल करें, ताकि इसकी कमी पूरी हो सके।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल में करें बदलाव

अपनी जीवनशैली में बदलाव लाकर भी आप लाल रक्त कोशिका की गिनती को बढ़ा सकते हैं। इसके लिए अच्छी डाइट, भरपूर नींद के साथ कई और बातों का भी ध्यान रखना होगा जैसे -

शराब का सेवन कम करना

बहुत अधिक शराब पीने से आरबीसी की गिनती कम हो सकती है, जिससे रैड ब्लड सेल्स काउंट भी कम होने लगता है। एक्सपर्ट के अनुसार, पुरुषों को प्रतिदिन सिर्फ 2 ड्रिंक और महिलाओं को 1 ड्रिंक का सेवन करना चाहिए।

व्यायाम

नियमित व्यायम से सिर्फ लाल रक्त कोशिकाएं बढ़ाने में ही मदद नहीं मिलती बल्कि यह आपको स्वस्थ रखने में भी मदद करता है। साथ ही व्यायाम शरीर और मस्तिष्क में ऑक्सीजन की प्रवाह भी सही रखता है, जिससे आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं। इसके लिए आप दौड़ना, जॉगिंग, साइकिल चलाना, स्विमिंग या एरोबिक्स एक्सरसाइज कर सकते हैं।

PunjabKesari

जंक फूड्स से परहेज

जंक, फास्ट व प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन रैड ब्लड सेल्स घटाने के साथ कैंसर जैसी बीमारियों को भी न्यौता देता है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप इससे परहेज करें।

ब्लड काउंट को समझना

पुरुषों के लिए सामान्य लाल रक्त कोशिका की गिनती लगभग 4.7 से 6.1 मिलियन कोशिकाओं प्रति माइक्रोलिटर (forL) हेती हैं। वहीं महिलाओं के लिए 4.2 से 5.4 मिलियन कोशिकाओं प्रति भिन्न होती है। जबकि बच्चों में नॉर्मल काउंट 4.0 से 5.5 मिलियन कोशिका प्रति isL है। हालांकि यह रेंज एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग भी हो सकती हैं, जिसका पता आप जांच के जरिए लगवा सकते हैं।

लाल रक्त कोशिकाओं की कमी के कारण

आयरन की कमी को रैड ब्लड सेल्स काउंट यानि एनीमिया का सबसे आम कारण माना जाता है। जब शरीर अपने अंदर उचित मात्रा में आयरन उत्‍पन्‍न नहीं कर पाता तो वो पर्याप्त मात्रा में हीमोग्लोबिन का उत्पादन नहीं कर पाता, जिससे लाल सेल्स काउंट घटने लगते हैं। हीमोग्लोबिन प्रोटीन युक्त हीम के रूप में एक आयरन है जो शरीर में ऑक्सीजन का निर्वाह करता है। हालांकि आयरन की कमी के अलावा कई हैल्थ कंडीशन के कारण भी रैड ब्लड सेल्स की गिनती कम हो सकती है जैसे -

-ब्लीडिंग
-कुपोषण
-गुर्दे की बीमारी
-बोन मैरो फेलियर
-गर्भावस्था
-ओवर-हाइड्रेटिड होना

ब्लड सेल्स ज्यादा होना भी है हानिकारक

सिर्फ रैड सेल्स कम नहीं बल्कि ज्यादा होना भी हानिकारक हो सकता है। हार्ट कंडीशन, बोन मैरो डिसीज, गुर्दे से संबंधित समस्याएं, धूम्रपान-तंबाकू का सेवन और डिहाइड्रेशन के कारण शरीर में रैड ब्लड सेल्स काउंट बढ़ सकता है। इसके अलावा कुछ दवाइयों के कारण भी इसकी संख्या सामान्य से अधिक हो सकती है।

कब पड़ती है डॉक्टर की जरूरत?

वैसे तो आहार के जरिए शरीर में इसकी कमी को पूरा किया सकता है लेकिन अगर ब्लड काउंड कैंसर, गुर्दे की बीमारी, मधुमेह, या किसी अन्य विकार के कारण कम हो रहे हैं तो आपको डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad