10 AUGWEDNESDAY2022 12:50:36 AM
Nari

गोल्डन बॉय नीरज चोपड़ा ने फिर रच डाला इतिहास, मां बोली- मेरे बेटे ने सारे सपने पूरे कर दिए

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 24 Jul, 2022 11:21 AM
गोल्डन बॉय नीरज चोपड़ा ने फिर रच डाला इतिहास, मां बोली- मेरे बेटे ने सारे सपने पूरे कर दिए

ओलंपिक चैम्पियन नीरज चोपड़ा  ने एक बार फिर देश को गौरवान्वित कर दिया है। उन्होंने नीरज ने 88.13 मीटर दूर भाला फेंक कर सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया है। नीरज विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय और पहले भारतीय पुरूष एथलीट बन गए हैं जिन्होंने भालाफेंक स्पर्धा में 88 . 13 मीटर के थ्रो के साथ रजत पदक जीता ।

PunjabKesari
भारत के लिये विश्व चैम्पियनशिप में एकमात्र पदक 2003 में पेरिस में अंजू बॉबी जॉर्ज ने लंबी कूद में कांस्य जीता था । फाउल से शुरूआत करने वाले चोपड़ा ने शानदार वापसी करते हुए दूसरे प्रयास में 82 . 39, तीसरे में 86 . 37 और चौथे प्रयास में 88 . 13 मीटर का थ्रो फेंका जो सत्र का उनका चौथा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है । उनका पांचवां और छठा प्रयास फाउल रहा ।

PunjabKesari

ग्रेनाडा के एंडरसन पीटर्स ने 90 . 54 मीटर के साथ स्वर्ण पदक जीता जबकि चेक गणराज्य के याकूब वालडेश को कांस्य पदक मिला जिन्होंने 88 . 09 मीटर का थ्रो फेंका । भारत के रोहित यादव 78 . 72 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ दसवें स्थान पर रहे । चोपड़ा ने पिछले साल तोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था और निशानेबाज अभिनव बिंद्रा के बाद ओलंपिक की व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण जीतने वाले वह पहले भारतीय हैं ।

PunjabKesari
चोपड़ा का सर्वश्रेष्ठ निजी प्रदर्शन 89 . 94 मीटर का है । उन्होंने लंदन विश्व चैम्पियनशिप 2017 में खेला था लेकिन फाइनल के लिये क्वालीफाई नहीं कर पाये थे । दोहा में 2019 विश्व चैम्पियनशिप में वह कोहनी के आपरेशन के कारण नहीं खेल सके थे । चोपड़ा ने इस सत्र में दो बार पीटर्स को हराया था जबकि पीटर्स जून में डायमंड लीग में विजयी रहे थे । पीटर्स अब सत्र में छह बार 90 मीटर से अधिक का थ्रो फेंक चुके हैं जबकि चोपड़ा अभी तक यह बाधा पार नहीं कर पाये हैं ।

PunjabKesari
वहीं नीरज चोपड़ा की मां ने बेटे की जीत पर कहा- बच्चा जब अपनी लाइन पर चल पड़ता है तो ख़ुशी ही होती है। दुनिया के हर मां-बाप चाहते हैं कि उनका बच्चा अच्छी राह पर चले. लेकिन नीरज ने मेरे सारे सपने पूरे कर दिए हैं। उन्होंने कहा-  हमें इस बात की ख़ुशी है कि उसने जो कठिन मेहनत की है, उसे उसका फल मिला है. हम इस बात के लिए पूरी तरह आश्वस्त थे कि वो मेडल तो जीतेगा ही। 
 

Related News